Baratiyo Ka Swagat Kaise Karen : बरातियों का स्वागत कैसे करते है

Baratiyo ka swagat kaise karen – जब किसी के घर में लड़की की शादी होती है तो उसके घर बरात आता है। अगर आपके भी घर में किसी लड़की की शादी हो रही है और आप बारातियों का स्वागत करना ठीक तरीके से नहीं जानते हैं। इसलिए आप जानना चाहते हैं कि baratiyo ka swagat kaise karen तो आप इस बिल्कुल सही जगह पर हैं। इस आर्टिकल के माध्यम से आपको बताया जाएगा कि बरात क्या होती है, बरात क्यों आती है और इसके साथ-साथ आपको यह भी बताया जाएगा कि बारातियों का स्वागत कैसे किया जाता है। 

अगर आप ऊपर बताए गए सभी प्रश्नों का हल जानना चाहते हैं तो कृपया हमारे इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें। क्योंकि अगर आप हमारे इस आर्टिकल को अंत तक नहीं पढ़ेंगे तो आपको बारातियों का स्वागत कैसे करें के बारे में अच्छे से जानकारी नहीं हो पाएंगे। इसलिए आपसे अनुरोध करते हैं कि कृपया आप हमारे इस आर्टिकल को अब तक पढ़े।

baratiyo ka swagat kaise karen
baratiyo ka swagat kaise karen

बारात क्या होती है 

अगर आप यह जानना चाहते हैं कि baratiyo ka swagat kaise karen तो सबसे पहले आपको यह जानना होगा कि बारात क्या होती है। क्योंकि जब तक आप यह नहीं समझ पाएंगे की बारात क्या होती है तब तक आप बारातियों का स्वागत अच्छी तरीके से नहीं कर पाएंगे। नीचे वाले पैराग्राफ में हम आपको बिल्कुल अच्छी तरह और विस्तार पूर्वक समझाने का प्रयत्न करते हैं कि बरात क्या होती है। 

जब लड़के के घर से उसकी शादी में उसके दोस्त रिश्तेदार या फिर उसके आस पड़ोस के लोग लड़की के यहां जाते हैं तो उन लोगों को बराती कहा जाता है और वह बराती के समूह को बारात कहा जाता है। अगर आपके घर किसी लड़के की शादी हो रही है और आप उसकी शादी में लड़के की तरफ से जा रहे हैं तो लड़की वाले लोग यह कहेंगे कि आप बारात में आए हैं और आप बारात के तरफ से है। 

कभी-कभी ऐसा भी होता है कि किसी की शादी एक ही दिन में होटल में या फिर मंदिर में हो जाती है तो ऐसी स्थिति में जो लोग लड़के की तरफ से आते हैं उन्हें बारात की तरफ का कहा जाता है। अगर पूरी बात अच्छे से समझा जाए तो निष्कर्ष यह निकलता है कि अगर कोई लड़के की तरफ से लड़के की शादी में लड़की के यहां जा रहा है तो लड़के की तरफ से जाने वाले व्यक्ति को बराती और लड़की के तरफ से जाने वाली‌ व्यक्तियों के समूह को बरात कहा जाता है। 

बारात क्यों ले जाया जाता है 

हमने आपको ऊपर वाले पैराग्राफ में विस्तार पूर्वक समझाने का प्रयत्न किया है की बारात क्या होता है अब आपके दिमाग में यह सवाल उठ रहा होगा कि बरात क्यों ले जाया जाता है या फिर बरात क्यों जाती है। आइए हम नीचे इस बारे में भी आपको विस्तार पूर्वक बताने का प्रयास करेंगे कि लड़के की तरफ से बरात क्यों ले जाया जाता है या फिर बरात ले जाने के पीछे लड़के वाले का क्या मकसद होता है। 

ज्यादातर देखा जाए तो लड़के के तरफ से लोग बरात जाते हैं और लड़की को लेकर आते हैं। ऐसा इसलिए करते हैं क्योंकि जब लड़का अकेले लड़की को लेने जाएगा तो उसको थोड़ा अकेलापन महसूस होगा और हो सकता है कि वह बीच से ही भाग जाए या फिर ऐसा भी हो सकता है कि लड़के के साथ लड़की वाले कुछ गलत कर दे। इसके अलावा हम यह भी कह सकते हैं कि अगर लड़का लड़की वाले के घर अकेले शादी करने जाता है और शादी के बाद लड़का लड़की में बात विवाद होता है तो सबूत के तौर पर लड़के वाले की तरफ से कोई नहीं मौजूद रहेगा। 

इन सभी कारणों को लेकर बारातियों को लड़के के तरफ से ले जाया जाता है ताकि अगर कभी कुछ ऐसा होता है जिसमें गवाह की जरूरत पड़े तो लड़के की तरफ से जाने वाली बारातियों में से कोई एक लड़के की तरफ से गवाही दे सके। जरूरी नहीं है कि कारणवश ही बरात ले जाया जाए बरात इसलिए भी ले जाया जाता है ताकि यह दिखाया जा सके कि हमारी इतने रिश्तेदार है और इन लोगों से हमारी खूब जमती है। 

Baratiyo ka swagat kaise karen 

अब आपके दिमाग में यह प्रश्न उठता होगा कि अगर हमारे घर कभी बरात आता है तो हम बारातियों का स्वागत कैसे करें आइए इस बार नीचे वाले पैराग्राफ में हम आपको यही बात बताएंगे कि आपके घर अगर बारात आएगी तो आप अपने घर आने वाले बारातियों का स्वागत किस तरह से करेंगे तो वह खुश रहेंगे। 

अगर आपके घर कभी बारात आती है तो सबसे पहले आप बारातियों का स्वागत करने के लिए माला लेकर गेट पर तैनात रहे जैसे ही बारात आपके घर आती हैं वैसे ही आप सभी बारातियों के गले में माला डालकर उनका स्वागत करें। अगर आप सभी के गले में माला डालकर स्वागत करेंगे तो वह सभी खुश हो जाएंगे। स्वागत करने के बाद आप तरह-तरह की मिठाइयां उनको नाश्ता करने के लिए दे ताकि वह रास्ते से जो थके आए हैं उनको थोड़ा सा आराम मिले और उनकी प्यास मिटे। 

नाश्ता कराने के बाद जब आपके घर बरात लग जाती है उसके बाद आप जल्द से जल्द बारातियों को खाना खिलाने का प्रयास करें। अगर आप उनको सही टाइम पर खाना खिला देंगे सही समय पर नाश्ता करा देंगे तो वह आपकी जमकर तारीफ करेंगे और कहेंगे कि आपने उनकी खातिरदारी में कोई कसर नहीं छोड़ी। 

निष्कर्ष

आज की इस आर्टिकल के माध्यम से हमने आपको बताया कि baratiyo ka swagat kaise karen इसके साथ-साथ हमने आपको यह भी बताने का प्रयास किया कि बरात क्या होती है और बारात क्यों ले जाई जाती है। उम्मीद करते हैं कि आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया होगा और इसमें हमारे द्वारा दी गई सारी जानकारी आपको अच्छे से समझ में आ गई होगी। 

अगर आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया और इसमें दी गई सारी जानकारी आपको अच्छे से समझ में आ गई तो आप इसे अपने मित्रों के साथ साथ अपने सोशल मीडिया पर शेयर जरूर करें। इस आर्टिकल से संबंधित अगर आप कोई प्रश्न पूछना चाहते हैं या फिर कोई राय देना चाहते हैं तो हमें कमेंट करके जरूर दें। 

Leave a Comment