इतिहास किसे कहते है? प्रकार, परिभाषा, महत्व, अर्थ | Itihaas kise kehte hai

Itihaas kise kehte hai – इतिहास किसे कहते है, सुनते ही हमारे मन में राजा रानी की तस्वीर बनने लगती है यह शब्द हमारे अतीत को वर्तमान से जोड़ने का कार्य करता है अर्थात इतिहास एक ऐसा विषय है जिसमें आप बीती हुई घटनाओं पर गहन चिंतन करते है। मगर इतिहास किसे कहते हैं इसे समझने के लिए आपको इतिहास की शुरुआत और इसकी आवश्यकता है को समझना होगा जिसके बारे में संपूर्ण जानकारी आज के लेख में दी गई है। 

इतिहास हमें बीती हुई घटनाओं का सटीक वर्णन करने की प्रक्रिया को समझाता है। यह एक महत्वपूर्ण विषय है जिसे आप अपनी पहली कक्षा से स्नातक की पढ़ाई तक पड़ेंगे। इतिहास से जुड़े सवाल सभी प्रकार के सरकारी नौकरियों में पूछा जाता है इस विषय को समझने से पहले आपको इतिहास के उदय की जानकारी होना आवश्यक है, इतिहास क्या होता है के बारे में बताते हुए itihaas kise kehte hai, इसकी परिभाषा, प्रकार और इतिहास कैसे पढ़ा जाता है की जानकारी आज के लेख में दी गई है।

Itihas kise kehte hai
Image Source: Itihas kise kehte hai

इतिहास किसे कहते हैं (Itihaas kise kehte hai)

जैसा कि हमने आपको बताया इतिहास शब्द बीते हुए समय का सटीक वर्णन करने की प्रक्रिया बतलाता है यह एक विषय है जिसके जरिए हम अपने बीते हुए कल पर चिंतन और अध्ययन करते है। हर पल इतिहास बन रहा है अर्थात जो भी समय बीतता जा रहा है चाहे वह आपके द्वारा कल का किया हुआ कार्य हो या किसी महापुरुष के द्वारा किया हुआ सदियों पहले का आंदोलन हर एक समय बड़ी तेजी से इतिहास में बदलता जाता है। 

हर किसी को इतिहास की जानकारी होनी चाहिए ताकि वह अपने अस्तित्व को समझ सके और वर्तमान समय में जो भी घटनाएं हो रही है वह इस प्रकार क्यों हो रही है इसका जवाब उसके सामने स्पष्ट रूप से मौजूद हो। इतिहास समझदारी भरा वर्णन देता है किसी भी बीते हुए कल का इतिहास एक विषय है जिसमें आपको बीते हुए कल के बारे में और इस निष्कर्ष पर किस प्रकार पहुंचा गया इसकी पूर्ण प्रक्रिया बताई जाती है।

यह भी पढे – Kahani Wala Apps | कहानी वाले ऐप्लकैशन की लिस्ट और प्रोसेस – Story Application

इतिहास की परिभाषा

कोई भी शब्द अपनी परिभाषा के बिना अधूरा है अगर हम इतिहास शब्द की परिभाषा का वर्णन करेंगे तो हम पाएंगे कि यह शब्द आज से सदियों पहले ग्रीक देश के शब्द “हिस्टोरिया” से लिया गया है, जिसका मतलब “समझदार और महत्वपूर्ण वर्णन होता है”। 

अगर हम इतिहास की परिभाषा देखें तो कहेंगे – जो समय बीत चुका है उस पर गहन चिंतन और शोध करते हुए उसका समझदार और महत्वपूर्ण वर्णन किस प्रकार किया गया है उसे हम इतिहास कहते हैं। 

इसी के साथ इतिहास क्या है इसे आप समझ गए होंगे कि बीते हुए कल को सही तरीके से शुद्ध करते हुए यह सिद्ध करना कि किस प्रकार वह बीता हुआ कल वर्तमान समय से जुड़ा हुआ है इतिहास है और यही इतिहास का कार्य है।

इतिहास के पिता कौन हैं

हर विषय का एक पिता माना गया है इसका मतलब यह है उस विषय में एक खास व्यक्ति में अध्ययन किया और विभिन्न प्रकार की चीजों की खोज की जिसके बाद इस पूरे विषय की एक नींव रखी गई। अगर इसी के साथ हम हेरोडोटस को इतिहास का पिता कहते है। 

ऐसा नहीं है कि इतिहास में सबसे ज्यादा अध्ययन है वो बैठक में किया है मगर हेरोडोटस के अध्ययन के बाद ही इतिहास से इतना लोकप्रिय बन पाया और विश्वभर की नजर को इस विषय की तरफ केंद्रित करने का श्रेय हम हेरोडोटस को देते है। 

इतिहास की क्या जरूरत है

इतिहास एक महत्वपूर्ण विषय है जिसे हर बच्चे को पढ़ना चाहिए इस विषय को पढ़ने के माध्यम से आप यह समझ पाएंगे कि वर्तमान समय में किसी जगह की स्थिति ऐसी क्यों है। सरल शब्दों में कहें तो आज भारत के उत्तरी क्षेत्र के जगहों पर कन्या भ्रूण हत्या हो रही है अर्थात लड़की को जन्म लेने नहीं दिया जाता लेकिन अगर आप भारत के दक्षिणी क्षेत्र में जाएंगे तो आपको इस तरह की घटनाएं बिल्कुल ना के बराबर देखने को मिलेंगी।  

इसके अलावा अगर आप दुनिया भी मामलों में इतिहास को जोड़ने का प्रयास करेंगे तो इस विषय से आप समझ पाएंगे जब 1947 में भारत आजाद हुआ तो चीन भारत से भी गरीब था मगर आज वह विश्व का सबसे अमीर देश कैसे बन गया। आप इस तरह के सवालों का जवाब भी ढूंढ पाएंगे कि आज से कुछ साल पहले भारत में आतंकवादी नहीं हुआ करते थे मगर आज आए दिन आपको आतंकवादी के किस्से सुनने को मिलते हैं ऐसा क्यों है। 

इतिहास की आवश्यकता को केवल एक शब्द से समझा जा सकता है और वह शब्द है “क्यों”, अगर आपको राजनीति या राजतंत्र के किसी भी मुख्य अधिकारी के तौर पर विराजमान होना है तो आपको इस बात की जानकारी होनी ही चाहिए कि भारत में इस तरह से क्यों हो रहा है, ऐसा क्या हुआ था, जो आज ऐसा करना पड़ रहा है, और इन सभी सवालों का जवाब आपको इतिहास के विषय में मिलेगा।

यह भी पढे – bhasha kise kahate hain – जनों भाषा किसे कहते है और इसके प्रकार

इतिहास के प्रकार

आपको यह भी जानना चाहिए कि इतिहास शब्द केवल अतीत को दर्शाता है इसका तात्पर्य यह नहीं है कि जो भी समय बीत गया आप उन सभी को एक साथ पढ़ पाएंगे, क्योंकि जैसे-जैसे अब पूछे जाएंगे आप समझ पाएंगे कि कभी स्थिति कुछ और थी तो इंसानों की स्थिति कभी कुछ और थी इस वजह से इतिहास को अलग-अलग भागों में विभाजित किया गया। 

इतिहास को तीन भागों में विभाजित किया गया है – 

  • प्राग इतिहास 
  • आद्य इतिहास  
  • ऐतिहासिक इतिहास

प्राग इतिहास 

इस श्रेणी में हम उस समय का वर्णन करते हैं जिस वक्त इंसान की उत्पत्ति हुई थी उस वक्त इंसान लिखना नहीं जानता था जिस वजह से इस इतिहास के सबूत हमें लिखित तौर पर नहीं मिलते इसके सबूत हमें केवल विज्ञानिक अभी क्रियाओं के दौरान प्राप्त होते हैं। 

इतिहास में हम मानव का उदय आम का खोज पत्थर का हथियार इस तरह की सभी जानकारियों को पढ़ते हैं अगर आप किसी सरकारी नौकरी की तैयारी कर रहे हैं तो इस भाग से बहुत कम प्रश्न पूछे जाते हैं इस वजह से इतिहास का यह अध्याय पढ़ाई और नौकरी के दृष्टि से उतना महत्वपूर्ण नहीं है।

आद्य इतिहास

इस श्रेणी में हम उस समय का वर्णन करते हैं जब इंसान लिखना सीख गया था अर्थात बड़ी-बड़ी गुफाओं में और पत्थर पर जो शिलालेख मिलते हैं उनके बारे में हम अध्ययन करते है। 

अगर आप किसी सरकारी नौकरी इतिहास के क्षेत्र में अध्ययन करना चाहते है, तो यह अध्याय आपके लिए महत्वपूर्ण हो सकता है क्योंकि यहां आपको मोहनजोदड़ो, हड़प्पा और इस प्रकार के अन्य सभ्यताओं के बारे में बताया जाता है। 

इतिहासिक इतिहास 

ऊपर बताए सभी प्रकार के बाद जो समय आता है वह राजा रानी का आता है मुख्य रूप से इसी इतिहास को महत्वपूर्ण माना जाता है क्योंकि इस अध्याय में हम अलग-अलग शासकों और आधुनिकता के उदय के बारे में पढ़ते हैं। 

अगर आप किसी सरकारी नौकरी या इतिहास के क्षेत्र में अधिक पढ़ाई करना चाहते हैं तो यह अध्याय आपके लिए बहुत आवश्यक हो सकता है ऐतिहासिक इतिहास के सबूत तक हमें अलग-अलग किताब और शिलालेख में मिलते हैं जिसे कई 100 साल पहले लिखा गया था। 

यह इतिहास इतना बड़ा है कि इस पूरे इतिहास को एक साथ पढ़ना असंभव था इस वजह से ऐतिहासिक इतिहास को तीन हिस्सों में विभाजित किया गया। 

  • प्राचीन इतिहास – इस क्षेत्र में आपको कुछ बहुत पुराने राजा महाराजा के बारे में पढ़ने को मिलेगा जैसे अशोक और सिकंदर जिनका उदय पृथ्वी में देश बन रहे थे तब हुआ था। 
  • समकालीन इतिहास – मुख्य रूप से जितने भी सांसों को की जानकारी अलग-अलग परीक्षाओं में पूछी जाती है उनमें से अधिकांश समकालीन इतिहास से होते हैं जिसमें अकबर, शेरशाह सूरी और ऐसे अन्य राजाओं के बारे में पढ़ते हैं।  
  • आधुनिक इतिहास – भारत की वर्तमान स्थिति अगर बहुत ज्यादा किसी ऐतिहासिक घटना से जुड़ी हुई है तो वह आधुनिक इतिहास है। भारत में अंग्रेजों का आना, पढ़ाई लिखाई का तीव्र होना, आजादी की लड़ाई, जैसी कुछ महत्वपूर्ण घटना है आधुनिक इतिहास का हिस्सा है। 

हिस्ट्री में पढ़ाई कैसे करें 

अगर आप इतिहास की पढ़ाई कैसे करें कि बारे में जानना चाहते है, तो जैसा कि अब तक आप समझ गए होंगे इतिहास विषय है अपने बीते हुए कल और वर्तमान समय को जोड़कर बहुत कुछ सीख सकते है। जिसकी जरूरत है आपको अपने जीवन के अलग-अलग क्षेत्र में पड़ेगी अगर आप किसी सरकारी नौकरी या राजनीति में जाना चाहते है तो आपको भारत के इतिहास का ज्ञान होना बेहद आवश्यक है। 

अगर आप इतिहास में पढ़ाई करना चाहते हैं तो नीचे बताए निर्देशों का पालन करें – 

  1. सबसे पहले आपको अपनी दसवीं कक्षा पास करनी होगी जिसके बाद आपके समक्ष विज्ञान, वाणिज्य और कला जैसे तीन क्षेत्र के दरवाजे खुलेंगे। 
  2. इतिहास में पढ़ाई करने के लिए आपको कला का चयन 10वीं परीक्षा के बाद करना होगा जिसके बाद आप अपने विषय में इतिहास को चुन सकते है।
  3. दसवीं के बाद इतिहास का विषय चुनने पर आप की 11वीं 12वीं में इतिहास का विषय पढ़ सकते हैं हालांकि आप जब कला से इन सभी चीजों की पढ़ाई करेंगे तो आपको इतिहास के साथ कुछ अन्य विषय भी पढ़ाए जाएंगे।  
  4. अगर आप 12वीं की परीक्षा दे चुके है तो स्नातक की डिग्री लेने के लिए भी इतिहास विषय का चयन कर सकते हैं और इतिहास में ऑनर के साथ स्नातक की डिग्री कर सकते है। 

इतिहास पढ़ने से नौकरी

आज के दिन हम कोई भी पढ़ाई अच्छी नौकरी और अपने करियर को अच्छा बनाने के लिए करते हैं अगर आप इतिहास की पढ़ाई पढ़ कर इस क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते हैं तो आप यह कैसे कर सकते हैं इसके बारे में जानकारी नीचे दी गई है – 

  • इतिहास एक बहुत ही महत्वपूर्ण विषय है क्योंकि अगर आप किसी भी सरकारी नौकरी के लिए आवेदन करेंगे तो आप से भारतीय इतिहास अवश्य पूछा जाएगा चाहे वह किसी भी क्षेत्र की सरकारी नौकरी हो। 
  • इतिहास की अच्छी समझ होने पर आप कलेक्टर और अन्य लोक सेवा आयोग की परीक्षा में अच्छा प्रदर्शन कर सकते है। 
  • आज भारत में बहुत सारे ऐसे जगह है जिनके ऊपर ऐतिहासिक रिसर्च होना चाहिए जिस वजह से आर्कियोलॉजिस्ट की नौकरी में भी बहुत अधिक वैकेंसी निकलती है। 

यह भी पढे – हवा से पतला क्या है? Hawa Se Patla Kya hai

Frequently Asked Questions (FAQ)

Q. इतिहास किसे कहते है?

अतीत में बीते हुए समय की सटीक और सही जानकारी को वर्णन करने की प्रक्रिया इतिहास कहलाती है।

Q. इतिहास कितने प्रकार के होते है?

मुख्य रूप से इतिहास को तीन भागों में विभाजित किया गया है प्राग इतिहास, आद्य इतिहास और ऐतिहासिक इतिहास।

Q. इतिहास पढ़ने से क्या होता है?

इतिहास पढ़ने से आप यह समझ पाएंगे कि वर्तमान स्थिति ऐसी क्यों है आखिर इतिहास में ऐसा क्या हुआ था जो आप की वर्तमान स्थिति ऐसी हो पाएगी इसके साथ ही इतिहास पढ़ने से आप विभिन्न सरकारी नौकरी में अपना अच्छा प्रदर्शन दे पाएंगे। 

निष्कर्ष 

उम्मीद करते है, ऊपर बताई गई जानकारी को पढ़ने के बाद आप यह समझ पाए होंगे कि itihaas kise kehte hai और इतिहास कैसा विषय है साथ हि इस विषय की पढ़ाई आप कैसे कर सकते है, हमने आपको बताया कि इसे पढ़ने के बाद आप किस प्रकार की नौकरी हासिल कर सकते हैं। 

इतिहास एक महत्वपूर्ण विषय है जिसके बारे में हर किसी को जानकारी होनी चाहिए अगर आप अपने देश को अपना घर मानते हैं तो आपका घर किस प्रकार बना और किस स्थिति से आया है इन सब की जानकारी आपको रखनी चाहिए इतिहास किसे कहते है, और इसे क्यों पड़ते है, साथ ही आपको क्या लाभ हो सकता है और इस तरह के कुछ अन्य सवालों के जवाब अगर इस लेख से आपको सरल शब्दों में प्राप्त हुए है, तो इसे अपने मित्रों के साथ भी साझा करें।

जरूर पढे

Leave a Comment