Private Company me Naukri Kaise Paye – प्राइवेट कंपनी मे जॉब कैसे पाए

Private company me naukri kaise paye: आज के समय में नौकरी बहुत ही आवश्यक हो गई है बिना नौकरी के कोई भी आदमी अपने जीवन यापन की कल्पना नहीं कर सकता बीते कुछ समय में सरकार के फैसले लोगों को यह यकीन दिला रहे है कि सरकारी नौकरी मिलना बहुत मुश्किल है, अगर आप यह सोच रहे है कि Private company me naukri kaise paye तो आजकल लेखा आपके लिए महत्वपूर्ण है। इस लेख के माध्यम से हम आपको कुछ ऐसे साधारण तरीके और जानकारी देना चाहते है जिसके माध्यम से बड़ी आसानी से प्राइवेट नौकरी कर पाएंगे। 

Private company me naukri kaise paye
Image – Private company me naukri kaise paye

आज हमारे बीच अलग-अलग तरह की कंपनी है जिसमें आप बड़ी आसानी से नौकरी पा सकते हैं मगर आपको यह पता होना चाहिए कि प्राइवेट कंपनी में नौकरी कैसे पाएं अगर आप इन सभी चीजों के बारे में गूगल पर जानकारी ढूंढ रहे हैं और अपना एक बढ़िया करियर बनाना चाहते हैं तो नीचे बताई गई जानकारियों को ध्यानपूर्वक पढ़ें।

Table of Content hide
1. Private Company me Naukri Kaise Paye – प्राइवेट कंपनी मे जॉब कैसे पाए

Private Company me Naukri Kaise Paye – प्राइवेट कंपनी मे जॉब कैसे पाए

प्राइवेट कंपनी क्या है

प्राइवेट कंपनी एक ऐसी कंपनी होती है जो किसी निजी व्यक्ति या कुछ लोगों के संगठन के द्वारा चलाई जाती है इस पर सरकार का कोई हाथ नहीं होता है यह कंपनी किसी तरह के प्रोडक्ट या सर्विस की सुविधा लोगों तक पहुंचाती है बदले में उनसे पैसे लेती है और उस पैसे को अपने प्रोडक्ट सर्विस को तैयार करने के लिए कार्य कर रहे लोगों में बैठती है।

हम ऐसा कह सकते है कि प्राइवेट कंपनी एक निजी व्यक्ति या कुछ लोगों के समूह के द्वारा चलाई जा रही एक संस्था है जो किसी प्रोडक्ट या सर्विस को बनाकर पैसे कमाती है उस प्रोडक्ट या सर्विस को बनाने के लिए जितने लोग काम करते है उन्हें प्राइवेट कंपनी का एंप्लॉय बोला जाता है। अगर आप प्राइवेट कंपनी में नौकरी पाना चाहते है या भारत के किसी प्रतिष्ठित प्राइवेट कंपनी के साथ अपना करियर शुरू करना चाहते है तो नीचे बताए गए निर्देशों का आदेश अनुसार पालन करें। 

Private Company me Job Kaise Paye

आज लोग इंटरनेट का इस्तेमाल बड़ी तेजी से कर रहे है जिस वजह से बहुत सारी प्राइवेट कंपनी समाज में आ चुकी है। अधिकांश लोग प्राइवेट कंपनी में नौकरी ढूंढ रहे है आपको बता दें कि प्राइवेट कंपनी में नौकरी पाने के लिए आपके पास अच्छा स्किल होना बहुत आवश्यक है। 

इंटरनेट के आ जाने से आप किसी भी प्राइवेट कंपनी में ऑनलाइन आवेदन कर सकते है, और किसी भी तरह की प्राइवेट कंपनी में नौकरी पाना बहुत आसान हो गया है। प्राइवेट कंपनी में नौकरी पाने के लिए आप किसी स्कूल को सीखी है और जिस प्राइवेट कंपनी में नौकरी पाना चाहते हैं उनके आधिकारिक वेबसाइट से आवेदन करें अगर इस प्रक्रिया में आपको कुछ कठिनाई लगती है तो नीचे बताए गए निर्देशों को ध्यानपूर्वक पढ़ें। 

प्राइवेट कंपनी में जॉब पाने के लिए योग्यता (Private Company Eligibility Criteria)

चाहे आप कैसी भी नौकरी को पाना चाहते हों हर नौकरी के लिए कुछ योग्यता होती है और योग्यता के अनुसार आपको नौकरी दी जाती है। अगर आप आज के समय में नौकरी पाना चाहते है, तो प्राइवेट कंपनी में जॉब पाने के लिए कुछ खास योग्यता होती है जिसके बारे में निर्देश नीचे दिए गए है उन्हें ध्यानपूर्वक पढ़ें –

प्राइवेट कंपनी में नौकरी पाने के लिए शिक्षण योग्यता

  • अगर आप किसी प्राइवेट कंपनी में नौकरी पाना चाहते है तो वाद के अनुसार आपके पास शिक्षण योग्यता होनी चाहिए। आमतौर पर किसी प्राइवेट कंपनी में अच्छे पद पर कार्य करने के लिए आपके पास स्नातक डिग्री होनी चाहिए।
  • कंपनी में 12वीं पास नौकरी भी मिलती है इसके लिए आपको अलग-अलग जॉब वेबसाइट और ब्लॉग पर जानकारी ढूंढना होगा।
  • कुछ कंपनी में शिक्षण योग्यता की आवश्यकता नहीं होती है वहां जिस पद पर नियुक्ति निकली है उस पद की जानकारी आपको होनी चाहिए सरल शब्दों में अगर किसी कंपनी में डिजाइनर की जरूरत है और आपके पास डिजाइनिंग की कला है और इसके लिए कुछ सैंपल मौजूद है तो आप इस नौकरी को बड़ी आसानी से पा सकते हैं। 

प्राइवेट कंपनी में नौकरी पाने की उम्र सीमा

  • अगर आप किसी प्राइवेट कंपनी में नौकरी पाना चाहते हैं तो उसकी न्यूनतम उम्र सीमा 18 वर्ष होती है मगर एक 18 वर्ष के व्यक्ति के लिए अधिक रिक्त पद नहीं होते इस वजह से अनुरोध है कि आप स्नातक डिग्री पूरी करें और 21 वर्ष के बाद आवेदन करें।
  • किसी भी प्राइवेट कंपनी में नौकरी पाने के लिए अधिकतम उम्र सीमा कंपनी के अनुसार अलग-अलग होती है इसकी कोई भी निश्चित उम्र सीमा नहीं बनाई गई है। 

यह भी पढे – अमेरिका USA मे Job कैसे पाए | America me job kaise paye

Private company me naukri kaise paye

अगर आप किसी भी प्राइवेट कंपनी में नौकरी पाना चाहते हैं तो इसके लिए आपको कुछ खास निर्देशों का आदेश अनुसार पालन करना होगा जिसके बारे में सटीक जानकारी नीचे दी गई है – 

Step 1 – सबसे पहले अपनी प्रारंभिक शिक्षा पूरी करें

किसी भी प्राइवेट कंपनी में एक अच्छी नौकरी पाने के लिए आपको सही तरीके से अपनी शिक्षा पूरी करनी है जिसमें सबसे पहले अच्छे अंको से 10वीं और 12वीं की परीक्षा पास करनी है इसके बाद प्राइवेट कंपनी के कुछ पदों के लिए आप आवेदन कर सकते है, मगर अच्छे पद के लिए आपको भारत के किसी मान्यता प्राप्त कॉलेज या विश्वविद्यालय से स्नातक की डिग्री हासिल करनी है। 

किसी प्राइवेट कंपनी में नौकरी पाने के लिए अब किसी भी स्ट्रीम से डिग्री प्राप्त कर सकते है, मगर ज्यादातर मान्यता इंजीनियरिंग डिग्री को दी जाती है।

Step 2 – किसी इंजीनियरिंग डिग्री को हासिल करें

इंजीनियरिंग में अलग-अलग तरह के विभाग होते हैं आप किसी भी विभाग से अपनी इंजीनियरिंग की डिग्री को पूरी कर सकते है। Engineering एक ऐसी डिग्री होती है जो आपको टेक्निकल चीज होगी समझ प्रदान करती है जिसकी मुख्य रूप से आवश्यकता प्राइवेट नौकरियों में पढ़ती है। 

हालाकि आप बिना इंजीनियरिंग डिग्री के भी प्राइवेट कंपनी में नौकरी हासिल कर सकते है। इसके लिए आपको कुछ स्किल की आवश्यकता होगी हम आपको सुझाव देंगे कंप्यूटर लैंग्वेज और वेब डेवलपमेंट या डिजिटल मार्केटिंग का कोई इसके आवश्यक है ताकि आपको आसानी से बिना किसी डिग्री के प्राइवेट कंपनी में नौकरी मिल सके।

Step 3 – जिस कंपनी में नौकरी चाहिए उसमें आवेदन करें

हर प्राइवेट कंपनी का अपना एक आधिकारिक वेबसाइट होता है जिसके जरिए आप उस कंपनी में आवेदन कर सकते है। अलग-अलग कंपनी के अलग-अलग आधिकारिक वेबसाइट होती है जिसको आप को कैसे ढूंढ सकते है और उस पर नोटिफिकेशन के शिक्षण में नई नौकरी के नोटिफिकेशन पर निर्देश अनुसार आवेदन कर सकते है। 

Step 4 – परीक्षा और इंटरव्यू पास करें

जिस कंपनी में आप ने नौकरी के लिए आवेदन किया है उस कंपनी के द्वारा एक निर्धारित समय पर परीक्षा आयोजित करवाई जाएगी अब परीक्षा में कट ऑफ मार्क्स लाना है और इंटरव्यू को पास करना है जिसके बाद आपको उस कंपनी में नौकरी दे दिया जाएगा। 

अलग-अलग कंपनी में परीक्षा और इंटरव्यू की प्रक्रिया अलग-अलग तरीके से हो सकती है इसकी जानकारी आपको आवेदन कंपनी के द्वारा एक नोटिस के जरिए दे दी जाएगी।

प्राइवेट कंपनी में जॉब कैसे ढूंढे (Private Job Kaise Dhunde 2022)

अगर आप किसी प्राइवेट कंपनी में काम करना चाहते है, और अपने यह सेटिंग नौकरी ढूंढने के बारे में विचार कर रहे है तो नीचे बताई गई बिंदुओं को ध्यानपूर्वक पढ़ें – 

  • किसी भी प्राइवेट कंपनी में नौकरी ढूंढने के लिए सबसे पहले गूगल का इस्तेमाल करें और आपको जिस तरह की नौकरी चाहिए उसके बारे में गूगल पर सर्च करें।
  • आपको जितने भी जॉब ब्लॉक मिलते हैं वहां से सभी प्रकार की प्राइवेट नौकरी के बारे में जानकारी एकत्रित करें और उनके आधिकारिक वेबसाइट से निर्देशित पद के लिए आवेदन करें।
  • वर्तमान समय में अलग-अलग तरह के जॉब वेबसाइट अवेलेबल है जॉब वेबसाइट पर रोजाना आपको अलग-अलग तरह के बहुत सारे लोग मिलते हैं वहां से जितना हो सके उतने जॉब के लिए आवेदन कर दें। 
  • जॉब कंसलटेंसी सर्विस भी होती है आप गूगल पर इस तरह की कंसल्टेंसी सर्विस में कॉल लगाकर जॉब के बारे में जानकारी एकत्रित कर सकते हैं और वह आपको डायरेक्ट किसी कंपनी में नौकरी दिलाने में मदद करेंगे। 
  • गूगल प्ले स्टोर पर अलग-अलग तरह के जॉब एप्लीकेशन अवेलेबल है उनमें से कुछ प्रचलित और प्रतिष्ठित कंपनी के जॉब एप्लीकेशन को डाउनलोड करें और अलग-अलग तरह के जॉब के लिए आवेदन करें। 
  • आपको जितनी बेहतरीन कंपनियों के बारे में जानकारी है उनका नाम एक कागज पर लिख हैं और उनके आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर जॉब नोटिफिकेशन चेक करें। 

प्राइवेट कंपनी में क्या काम होता है

प्राइवेट कंपनी में क्या काम होता है इसे समझने के लिए आपको यह समझना होगा कि अलग-अलग पद पर नियुक्त व्यक्ति क्या कार्य करते हैं।

तो सबसे पहले प्राइवेट कंपनी एक ऐसी संस्था होती है जो किसी प्रोडक्ट या सर्विस को बढ़ाने का कार्य करती है सबसे पहला काम उस प्रोडक्ट ओर सर्विस को बनाना और उसे भी बेचना होता है। इसके अलावा कंपनी में अलग-अलग तरह के पद होते है जिस पर व्यक्ति को नियुक्ति दी जाती है जिसके बारे में नीचे सरल शब्दों में जानकारी दी गई है – 

Officers in Private Company

किसी कंपनी को चलाने के लिए कुछ सबसे बेहतरीन बुद्धिजीवियों को प्रतिष्ठित पद पर बैठाया जाता है जो अपने फैसले लेने की क्षमता की वजह से उस पद पर विराजमान होते हैं जिन्हें हम कंपनी का प्रमुख ऑफिसर कहते हैं।

  • MD (Managing Director)

किसी भी कंपनी का यह सबसे प्रतिष्ठित और सबसे बड़ा पद होता है यह वह व्यक्ति होता है जो कंपनी में अपना पैसा लगाता है और कंपनी के मुनाफे में से अपना हिस्सा रखता है। कंपनी को फायदा या नुकसान पहुंचाने में इस व्यक्ति की सबसे बड़ी भूमिका होती है कोई भी कंपनी किस प्रकार कार्य करेगी अपने सामान को किस तरह बाजार में पहुंचेगी यह सब मैनेजिंग डायरेक्टर सोचता है। 

अगर किसी कंपनी का एक मालिक है तो वह अकेले फाउंडर कहलाता है मगर जब कंपनी में बहुत सारे लोग अपना पैसा लगाते हैं तो हर किसी को मैनेजिंग डायरेक्टर कहा जाता है और सभी मैनेजिंग डायरेक्टर अपने हिसाब से कुछ पैसा कंपनी में लगाते हैं और कंपनी के मुनाफे का जो हिस्सा बचता है उसे अपनी क्षमता के अनुसार बांटते हैं। 

  • CEO (Chief Executive Officer)

कार्य करने वाले कर्मचारियों में यह सबसे बड़ा पद होता है यह व्यक्ति कंपनी में होने वाले सभी प्रकार के फैसलों के लिए जिम्मेदार होता है कंपनी में कोई भी फैसला क्यों लिया जाएगा और कैसे लिया जाएगा यह सब एक सीईओ की निगरानी में होता है। 

आप CEO कैसे बन सकते है इसके बारे में संपूर्ण जानकारी नीचे निर्देशित किए गए लेख में दी गई है। यह पद एक विश्वसनीय और बहुत अनुभवी व्यक्ति को दिया जाता है क्योंकि सभी प्रकार के फैसले के लिए यह पद जिम्मेदार है। 

यह भी पढिए – CEO Kaise Bane? जानिए CEO की योग्यता, सैलरी, पूरी जानकारी

  •  COO (Chief Operating Officer)

किसी भी प्राइवेट कंपनी में कार्य करने वाले कर्मचारी के बीच यह दूसरा सबसे प्रमुख पद होता है इस पद पर विराजमान व्यक्ति कंपनी को आगे बढ़ाने के लिए जिम्मेदार होता है। सरल शब्दों में एक COO का काम होता है कि वह कंपनी के सभी बिजनेस प्लान पर गहन चिंतन करें और बिजनेस को आगे बढ़ाने के बारे में विचार करें। 

कंपनी को किस तरह के कार्य करने से ज्यादा से ज्यादा मुनाफा हो सकता है उसके ऊपर कार्य करना एक ऑपरेटिंग ऑफिसर का काम होता है। मगर बहुत सारी कंपनी में यह कार्य CEO हि कर लेता है यह कंपनी के आकार पर निर्भर करता है। 

  • CFO (Chief Funding Officer)

यह कंपनी में कार्य करने वाले सभी कर्मचारी का तीसरा सबसे प्रतिष्ठित पद होता है कंपनी में कोई पैसा कहां से आ रहा है वह पैसा कहां जा रहा है इस बात का पूरा लेखा-जोखा रखना एक सीएफओ का काम होता है। 

चाहे वह कैसी भी कंपनी हो सीएफओ एक बहुत ही महत्वपूर्ण पद होता है शुरुआत में यह काम एक अकाउंटेंट से हो जाता है मगर जब कंपनी बहुत बड़ी हो जाती है और कंपनी का लेनदेन बहुत ज्यादा हो जाता है तो बहुत सारे अकाउंटेंट की जरूरत पड़ती है और उन पर नजर रखने वाले व्यक्ति को CFO का पद दिया जाता है जो कंपनी में आने और कंपनी से निकलने वाले पैसे की संपूर्ण जानकारी के लिए जिम्मेदार होता है। 

  • CMO (Chief Marketing Officer)

किसी भी कंपनी को अगर मार्केट में अपनी स्थिति बरकरार रखनी है तो इसके लिए मार्केटिंग पर काबू रखना बहुत आवश्यक है इसका सबसे बेहतरीन एग्जांपल जोमैटो है जो आज के समय में अपनी मार्केटिंग की वजह से पूरे विश्व में जाना जाता है। 

सीएमओ एक बहुत ही प्रतिष्ठित पद है जिस पर विराजमान व्यक्ति कंपनी के छवि के लिए जिम्मेदार होता है मार्केटिंग के जरिए कंपनी अपनी छवि अपने कस्टमर के समक्ष बनाती है वह कैसी छवि है लोग उसे कितना पसंद करते हैं यह जिम्मेदारी CMO की होती है। 

Managers in Private Company

इतने सारे प्रतिष्ठित ऑफ इसरो के साथ हो कुछ मैनेजर भी कंपनी में कार्य करते हैं जिनकी सूची नीचे दी गई है। 

  • Account Manager

कंपनी के सभी लेखा-जोखा रखने का काम अकाउंट मैनेजर का होता है जितने भी अकाउंटेंट और पैसे के लेनदेन प्रक्रिया से जुड़े कर्मचारी है उन सबके ऊपर अपनी निगरानी रखना और वह लोग कहां से पैसा ला रहे हैं कैसे कार्य कर रहे है इस बात को समझने के लिए अकाउंट मैनेजर की आवश्यकता होती है। 

  • Recruitment Manager

जब कोई कंपनी धीरे-धीरे बड़ी होने लगती है तो उसमें हमें अलग-अलग तरह के लोगों की आवश्यकता पड़ती है आए दिन कुछ लोगों को उनकी कार्यकुशलता या किसी गलती के कारण कंपनी से बाहर निकाला जाता है और कुछ लोगों को कंपनी में नौकरी दी जाती है इस कार्य के लिए रिक्रूटमेंट मैनेजर जिम्मेदार होता है वह देखभाल करता है कि हर कर्मचारी सही तरीके से कार्य कर रहा है या नहीं। 

  • Regional Manager 

कंपनी अपने प्रोडक्ट धीरे-धीरे एक छोटे से इलाके से शुरू करके देश दुनिया और दूर-दूर तक पहुंच जाती है ऐसे में उनका प्रोडक्ट किस जगह पर कैसा परफॉर्म कर रहा है यह देखना बहुत मुश्किल होता है जिसके लिए रीजनल मैनेजर नियुक्त किया जाता है और कुछ दूर के स्टोर या प्रोडक्ट के बिकने के एरिया को एक रीजनल मैनेजर को सौंपा जाता है जो अपने रीजन में यह देखता है कि प्रोडक्ट कैसे बिक रहा है या लोगों का उसके प्रति क्या प्रक्रिया है। 

  • Human Resource Manager (HR)

कंपनी में कौन सा कर्मचारी कैसे काम कर रहा है किसको कितनी तनख्वाह देनी चाहिए कौन ओवरटाइम कर रहा है किसके ओवरटाइम से कितना फायदा हो रहा है इन सब का लेखा-जोखा रखने के लिए एक ह्यूमन रिसोर्स डिपार्टमेंट बनाया जाता है जो इस बात की निगरानी रखता है कि हर कर्मचारी कंपनी में सही तरीके से काम कर रहा है या नहीं और कार्य करने वाले कर्मचारियों को किसी तरह की परेशानी हो रही है या नहीं। 

अगर कंपनी में कोई फीमेल काम कर रही है तो उसे किस तरीके से कार्य करने की छूट मिलनी चाहिए अगर कोई मेल काम कर रहा है तो उसे काम करने की सुविधा कैसी मिलनी चाहिए इन सभी चीजों की जानकारी और व्यवस्था एचआर टीम के द्वारा रखी जाती है। 

  • Departmental Manager 

अगर किसी कंपनी में प्रोडक्ट या सर्विस को कस्टमर को भी बेचा जाता है किसी बिजनेस को भी बेचा जाता है और किसी गवर्नमेंट बॉडी को भी बेचा जाता है तो इस तरह उनका प्रोडक्ट ओर सर्विस अलग-अलग तरह के लोगों तक जा रहा है हर तरह के प्रोडक्ट या कस्टमर के हिसाब से एक डिपार्टमेंट तैयार किया जाता है और उस डिपार्टमेंट का मैनेजर नियुक्त किया जाता है जिस प्रकार उस डिपार्टमेंट में कार्य कर रहे सभी कर्मचारियों को डिपार्टमेंट की कार्यकुशलता बढ़ाने के अनुसार कार्य करने के लिए निर्देशित करना होता है। 

  • General Manager

किसी कंपनी में बहुत अलग-अलग तरह के मैनेजर होते हैं यह सभी मैनेजर आपस में किसी तरह की परेशानी में ना फंस जाएं इसलिए जनरल मैनेजर को रखा जाता है जिसका कार्य सभी मैनेजर की जानकारी और व्यवस्था को सूचीबद्ध तरीके से कंपनी के प्रमुख ऑफिसर तक पहुंचाना होता है। 

Subordinates in Private Company   

हर कंपनी में मैनेजर के अलावा जो कर्मचारी कार्य कर रहे होते हैं उनकी एक टीम तैयार की जाती है जो अलग-अलग तरह के प्रोजेक्ट पर कार्य कर रहे होते हैं जिनके बारे में जानकारी नीचे दी गई है। 

  • Analyst 

कंपनी में अलग-अलग तरह के प्रोडक्ट और सर्विस पर कार्य किया जाता है जिस वजह से अलग-अलग तरह के प्रोजेक्ट होते हैं प्रत्येक प्रोजेक्ट पर जो व्यक्ति रिसर्च करने का कार्य करता है और उस प्रोजेक्ट से जुड़ी सभी प्रकार की जानकारियों को सूचीबद्ध तरीके से इकट्ठा करता है उसे एनालिस्ट कहा जाता है। 

  • Developer  

किसी भी प्रोजेक्ट पर काम करने के लिए जो टीम तैयार की जाती है उस टीम में एक या एक से ज्यादा सदस्य डेवलपर के कार्य से नियुक्त होते हैं जिनका काम होता है एनालिस्ट के द्वारा बताई गई सभी जानकारियों के आधार पर किसी प्रोजेक्ट को डेवलप करना या निर्देशानुसार डिजाइन करना। 

  • Tester

एक टीम में एक से ज्यादा टेस्टर हो सकते हैं एक टीम में उनका रोल बने हुए प्रोजेक्ट को टेस्ट करना होता है वह सही तरीके से कार्य कर रहा है या नहीं जब एक टेस्टर यह फाइनलाइज कर देता है कि बना हुआ प्रोजेक्ट सही तरीके से कार्य कर रहा है तो यह डिपार्टमेंट के मैनेजर के पास चला जाता है जो इसको सूचीबद्ध तरीके से अपने फाइल में नोट करता है और जनरल मैनेजर तक पहुंचाता है। 

प्राइवेट कंपनी में किस पद पर नौकरी लगती है

प्राइवेट कंपनी में आपको किस पद पर नौकरी दी जाएगी यह आपकी कार्यकुशलता पर निर्भर करता है मुख्य रूप से लोगों को सबोर्डिनेट के तौर पर कार्य करने के लिए नियुक्त किया जाता है। 

चाहे कैसी भी कंपनी हो उसे अलग-अलग तरह के प्रोडक्ट या सर्विस को तैयार करना होता है ताकि वह बाजार में उन्हें बाजार में बेच सके और पैसा कमा सके। इस प्रक्रिया में सबऑर्डिनेट लोगों की एक टीम बनाई जाती है जिस टीम में ऊपर बताए गए लोग होते हैं वह बताए गए प्रोजेक्ट पर कार्य करते हैं और जो हुआ है प्रोजेक्ट तैयार हो जाता है तो उसे कंपनी के अफसरों तक पहुंचाया जाता है जिसे मार्केटिंग टीम के द्वारा बाजार में बेचा जाता है। 

12वीं पास के लिए प्राइवेट जॉब

किसी कंपनी में किसी प्रोजेक्ट को डिजाइन करने या उसे बेचने के लिए मुख्य रूप से डिग्री वाले व्यक्ति को खोजा जाता है हालांकि आजकल कुछ कंपनियों में स्किल के आधार पर नौकरी मिल रही है तो अगर आप किसी तरह के टेक्निकल प्रोजेक्ट पर काम कर सकते हैं आपको कंप्यूटर लैंग्वेज का अच्छा खासा ज्ञान है या किसी प्रोडक्ट को सही तरीके से मार्केट में बेच सकते हैं तो 12वीं पास होना मायने नहीं रखता आप आसानी से नौकरी पा सकते हैं। 

मगर इस तरह से नौकरी पाना बहुत ही मुश्किल है वर्तमान समय में अगर आप तुरंत 12वीं पास करने के बाद किसी भी तरह की नौकरी प्राइवेट कंपनी में चाहते हैं तो आपके लिए कुछ नौकरी मौजूद है जिसके लिए आपको किसी भी तरह के इंटरव्यू या जटिल प्रक्रिया से गुजरने की आवश्यकता नहीं है – 

  • Assistant Clerk
  • Driver
  • Security Guard
  • Peon
  • Helper

इस तरह की नौकरी केवल 12वीं पास के आधार पर आपको मिल जाएगी हालांकि किसी खास किस्म का अगर इसके आपके पास मौजूद है तो आप कंपनी में इंटरव्यू के लिए आवेदन कर सकते हैं ऐसा केवल कुछ खास कंपनियों में होता है जिसके बारे में आपको कमेंट में बता दिया जाएगा।  

महिलाओं के लिए अच्छा प्राइवेट जॉब

आज महिलाएं पुरुष से कम नहीं है मगर समाज आज भी महिलाओं के लिए जरा जटिल है जिस वजह से किसी प्राइवेट कंपनी में अगर आप महिलाओं के लिए नौकरी ढूंढ रहे हैं तो वह नौकरी ज्यादा सही रहेगी जिसमें महिलाओं को नाइट शिफ्ट ना करना पड़े। इसके अलावा जेंडर इक्वलिटी होनी चाहिए और कंपनी काफी प्रतिष्ठित होनी चाहिए। 

हालांकि किसी भी प्राइवेट कंपनी में कुछ ऐसे कार्य हैं जिनके लिए मुख्य रूप से महिलाओं का ही चयन किया जाता है और ऐसी कौन सी नौकरी है इसके बारे में नीचे सूचीबद्ध तरीके से बताया गया है – 

  • Sales Department Jobs – आमतौर पर ऐसी मान्यता है कि औरत किसी भी प्रोडक्ट को ज्यादा बेहतर तरीके से बेच सकती है जिस वजह से sales department के पद के लिए ज्यादातर औरतों को रिफर किया जाता है। 
  • Telecalling jobs – औरतों की आवाज सुनकर लोग जरा आराम से बात करते हैं जिस वजह से कंपनी कॉलिंग सुविधा जैसे कस्टमर केयर सर्विस के लिए ज्यादातर महिलाओं के नियुक्ति करना पसंद करती है। 
  • Personal Secretary Jobs – कंपनी के ऑफिसर के ऊपर बहुत ज्यादा जिम्मेदारी होती है उसे अलग-अलग तरह के कार्य करने होते है, और हर तरह के कार्य को तैयार करना बहुत मुश्किल हो जाता है जिस वजह से उन्हें एक सेक्रेटरी की आवश्यकता होती है ज्यादातर कंपनी में इस पद के लिए महिलाओं का चयन ज्यादा जल्दी किया जाता है, क्योंकि वो किसी चीज को मैनेज करने में पुरुष के मुकाबले ज्यादा अच्छी होती है। 

हालांकि स्किल के बदौलत किसी को नौकरी मिलती है आप किसी कार्य को करने में कितने अच्छे हैं यह निर्धारित करता है कि आपको कैसी नौकरी दी जाए आपका महिला या पुरुष होना इसमें कोई मायने नहीं रखता। इस वजह से महिलाओं को अपने स्किल पर काम करना चाहिए और किसी भी तरह की नौकरी के लिए आगे आना चाहिए। 

प्राइवेट कंपनी में सैलरी

किसी भी कंपनी में नौकरी हम अच्छी तनख्वाह पाने के लिए करते हैं अगर आप Private company me naukri kaise paye के बारे में जानकारी ढूंढ रहे हैं तो इसके पीछे एक कारण तनख्वाह भी अवश्य होगी हालांकि किसी भी कंपनी में तनख्वाह आपके स्किल और कार्य क्षमता के अनुसार मिलती है और अलग-अलग प्राइवेट कंपनी में अलग-अलग तनख्वाह मिल सकती है फिर भी हम एक अंदाज सैलरी आपके समक्ष प्रस्तुत कर रहे हैं। 

जैसा कि हम जानते हैं आमतौर पर किसी व्यक्ति को सबोर्डिनेट पद के लिए नौकरी दी जाती है अगर आप उस पद के लिए नियुक्त होते हैं तो आप की शुरुआती तनख्वाह ₹25000 प्रति माह से ₹30000 प्रति माह होगी जो आपकी कार्यकुशलता के अनुसार बढ़ सकती है। 

प्रमोशन करते हुए या अपनी कुछ बेहतरीन स्किल को दिखाते हुए मैनेजर पद के लिए नियुक्त होते हैं तो किसी भी मैनेजर की शुरुआती तनख्वाह ₹40000 प्रति माह से ₹50000 प्रति माह होती है जो आगे आपकी कार्यकुशलता के अनुसार बढ़ सकती है। 

निष्कर्ष 

आज के लेख में हमने आपको यह बताने का प्रयास किया कि Private company me naukri kaise paye, प्राइवेट कंपनी में किस प्रकार की नौकरी होती है और उसके लिए आपको क्या करना चाहिए किसी महिला को किस तरह की नौकरी के लिए आवेदन करना चाहिए और किसी प्राइवेट कंपनी में नौकरी कैसे ढूंढते है। उम्मीद करते है ऊपर बताई गई जानकारियों के आधार पर आपको प्राइवेट कंपनी में अपने पसंद की नौकरी मिल पाएगी। 

अगर इस लेख में साझा की गई जानकारियों को पढ़ने के बाद प्राइवेट कंपनी में नौकरी कैसे पाएं से जुड़ी सभी प्रकार की जानकारी आपको सरल शब्दों में मिली है तो इसे अपने मित्रों के साथ भी साझा करें साथी अपने सुझाव विचार या किसी भी प्रकार के प्रश्न को कमेंट में पूछना ना भूले।

जरूर पढे

Leave a Comment