Vidhayak kaise bane| विधायक कैसे बनते है – योग्यता, वेतन, अधिकार

Vidhayak kaise bane – आज हर कोई डॉक्टर और इंजीनियर बनना चाहता है मगर बहुत कम लोग है जिनके अंदर विधायक बनने की तमन्ना होती है। आपने अलग अलग फिल्म और सीरियल और आपके इलाके का इतिहास भी गवाह है विधायक की ताकत का, तो जरूर आप इसके प्रति आकर्षित हुए होंगे और अपने समाज में विधायक बनने की इच्छा रखते होंगे तो आप बिल्कुल सही लेख पर है। आज इस लेख के माध्यम से Vidhayak kaise bane, विधायक बनने की योग्यता, विधायक का अधिकार विधायक की तनख्वाह जैसे कुछ आवश्यक सवालों का उत्तर सरल शब्दों में देने का प्रयास किया गया है।

Vidhayak Kaise Bane
Image Source: Vidhayak kaise bane

विधायक अपने समाज का जनप्रतिनिधि होता है जो अपने समाज की समस्याओं को सरकार के समक्ष रखता है उन समस्याओं का निराकरण करने के लिए सरकार के तरफ से एक विधायक को अलग-अलग power दिए जाते है, जिनका इस्तेमाल करके वह अपने area में रहने वाले लोगों की सुरक्षा और आजादी देता है। अगर आप अपने शहर से बहुत प्यार करते है तो विधायक बनकर आप अपने इलाके में होने वाली सभी समस्याओं का निराकरण कर सकते है। विधायक कैसे बने और इसकी संपूर्ण कदम दर कदम प्रक्रिया नीचे सरल शब्दों में बताई गई है। 

Table of Content hide
1. Vidhayak kaise bane | विधायक कैसे बनते है – योग्यता, वेतन, अधिकार

Vidhayak kaise bane | विधायक कैसे बनते है – योग्यता, वेतन, अधिकार

विधायक कौन होता है

विधायक एक जनप्रतिनिधि होता है जो एक निर्वाचन क्षेत्र में रहने वाले लोगों की सभी समस्या को वर्तमान सरकार के समक्ष रखता है। इसके अलावा आपको बता दें कि भारतीय संविधान के अनुसार अलग-अलग राज्य को अलग-अलग क्षेत्र में विभाजित किया गया है प्रत्येक क्षेत्र का एक जनप्रतिनिधि होता है जिसे वहां की जनता के द्वारा चुनाव प्रक्रिया से चुना जाता है, उसे विधायक कहते हैं।

विधायक एक प्रचलित और जिम्मेदारी भरा पद होता है जिस पर निष्पक्ष रूप से एक व्यक्ति को अपनी संपूर्ण इमानदारी से एक निर्वाचन क्षेत्र में रहने वाले सभी व्यक्ति की समस्या को राज्य सरकार तक पहुंचाना और उसका समय पर निराकरण करना होता है। केंद्र सरकार के द्वारा जितने भी नियम कानून बनाए जाते है, उनको प्रत्येक राज्य में लागू करवाने के लिए एक मुख्यमंत्री रखा जाता है और प्रत्येक राज्य को कुछ क्षेत्र में विभाजित कर दिया जाता है प्रत्येक क्षेत्र का एक विधायक होता है जिसका कार्य उस नियम कानून को अपने क्षेत्र के सभी लोगों तक पहुंचाना होता है। 

MLA full form

आपको हम बता दें कि विधायक को अंग्रेजी में MLA कहा जाता है। MLA का फुल फॉर्म Member of Legislative Council होता है।

प्रतेक राज्य में 1 विधानसभा होता है जहां पर सभी विधायक बैठते है, और उनके नेता मुख्यमंत्री होते हैं जो विधायक को कार्य करने के दिशा निर्देश बताते हैं।

विधायक का इतना महत्व क्यों है

अपने अलग-अलग फिल्म वेब सीरीज और अपने इलाके में भी एक विधायक का बहुत महत्व देखा होगा साथ ही उसके आगे पीछे बहुत सारी सुरक्षा और उसके अलग-अलग ताकत प्रभाव को अपने समाज में देखा होगा। अगर आप यह सोच रहे है कि विधायक ना तो CM होता है ना ही PM होता है, फिर भी इतना महत्व उसको क्यों दिया जाता है तो बता दे, की एक राज्य की सरकार अलग-अलग विधायक की मदद से बनती है। 

जब एक राज्य में चुनाव होता है तो जैसा कि हमने आपको बताया है एक राज्य को अलग-अलग क्षेत्र में विभाजित कर दिया जाता है प्रत्येक क्षेत्र से एक जनप्रतिनिधि खड़ा होता है या तो वह किसी पार्टी का सदस्य हो सकता है या फिर निर्दलीय हो सकता है। 

इस तरह से एक राज्य के अलग-अलग क्षेत्र से जो जनप्रतिनिधि जीते हैं वह सभी मिलकर एक मुखिया नेता का चुनाव करते हैं जो राज्य का मुख्यमंत्री बनता है। राज्य के एक निर्धारित क्षेत्र में सबसे ज्यादा वोट इकट्ठा करने वाला व्यक्ति विधायक होता है। जिसका एक मुख्यमंत्री को बनाने में बहुत बड़ा सहयोग होता है इस वजह से उसे एक महत्वपूर्ण पद माना जाता है। 

विधायक को चुनते कैसे हैं

जैसा कि हमने आपको बताया विधायक कोई भी बन सकता है जरूरी नहीं कि आप किसी पार्टी का हिस्सा हो आप एक स्वतंत्र कैंडिडेट के रूप में भी खड़ा हो सकते है। जब कोई बिना किसी पार्टी का समर्थन करते हुए स्वतंत्र रूप से खड़ा होता है तो उसे निर्दलीय कैंडिडेट कहा जाता है।

एक राज्य को अलग-अलग क्षेत्र में विभाजित किया जाता है जिसे निर्वाचन क्षेत्र और अंग्रेजी में सीट कहा जाता है। एक राज्य में सीट की मात्रा कितनी है यह उस राज्य के क्षेत्रफल और जनसंख्या पर निर्भर करता है। उदाहरण के तौर पर उत्तर प्रदेश में 403 निर्वाचन क्षेत्र है मतलब इस राज्य में 403 विधायक है, जो अलग-अलग क्षेत्र के जनप्रतिनिधि और यह सब मिलकर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री का चुनाव करते हैं।

इस तरह भारत के अलग-अलग राज्यों में अलग-अलग निर्वाचन क्षेत्र है, हर राज्य में सीट की संख्या अलग-अलग होती है, हर सीट से बहुत सारे लोग चुनाव के लिए खड़े होते है, जो जीतता है वह उस सीट पर विधायक के तौर पर विराजमान होता है। हर राज्य में प्रत्येक 5 साल पर मुख्यमंत्री और विधायक का चुनाव होता है विधायक कैसे बने की step–by–step प्रक्रिया नीचे बताई गई है।  

विधायक क्या काम करता है

अगर आप समझ गए हैं कि विधायक कौन है उसे चूमते कैसे हैं तो हम बता दें कि यह है इतना महत्वपूर्ण पद है तो इसकी क्या-क्या जिम्मेदारियां होती है। एक विधायक को एक राज्य का बहुत ही जिम्मेदारी भरा पद माना जाता है ऐसा इस वजह से है क्योंकि एक राज्य सरकार या केंद्र सरकार के द्वारा जितनी भी योजनाएं और नियम कानून को लागू किया जाएगा वह हर राज्य के एक निर्धारित निर्वाचन क्षेत्र में मौजूद सभी लोगों तक पहुंचाने में विधायक कार्य करता है। सरकार अलग-अलग विकास के लिए पैसे देती है जिन पैसों से उस क्षेत्र का विकास करना विधायक का कार्य होता है।

केंद्र सरकार एक कानून बनाकर राज्य के मुख्यमंत्री को देती है राज्य का मुख्यमंत्री योजना या नियम कानून को अपने राज्य में मौजूद अलग-अलग निर्वाचन क्षेत्र के विधायक को देता है और उस विधायक का काम होता है कि वहां पर मौजूद सभी आदमी को इस योजना या नियम का आदेश अनुसार लाभ मिले। 

विधायक के अधिकार क्या होते हैं – Vidhayak Powers

भारत में रहने वाले प्रत्येक नागरिक को यह पता होना चाहिए कि उसके इलाके के विधायक का अधिकार क्या है कौन सा कार्य वह कर सकता है और क्या वह नहीं कर सकता है – 

  • विधायक का सबसे महत्वपूर्ण अधिकार होता है कि वह अपने क्षेत्र में मौजूद सभी व्यक्ति की बात को सुनें क्योंकि उसका कार्य है सभी लोगों की समस्या को विधानसभा में मुख्यमंत्री के सामने उठाना।
  • अलग-अलग योजना और नियम कानून का एक निर्वाचन क्षेत्र में किस तरह से पालन किया जा रहा है इसकी देखरेख करना भी विधायक का कार्य होता है।
  • एक क्षेत्र में अगर सभी लोगों को मौजूदा कार्यालय से सही तरीके से लाभ नहीं प्राप्त हो रहा तो विधायक के अधिकार में है कि वह निर्वाचन क्षेत्र के लोगों के लिए निर्धारित कार्यालय खुलवा सकता है।
  • एक निर्वाचन क्षेत्र में जो पुलिस अधिकारी कार्य कर रहे होते है, उनका काम होता है कि वह विधायक के दिशा निर्देश पर कार्य करें और उस क्षेत्र की प्रगति करें इस वजह से विधायक एक निर्धारित क्षेत्र के पुलिस अधिकारी को भी दिशा-निर्देश देने का कार्य करता है। 
  • विधायक किसी भी परिस्थिति में निर्वाचन क्षेत्र में रहने वाले व्यक्ति के निजी संपत्ति को नुकसान नहीं पहुंचा सकता।
  • विधायक किसी भी तरह के व्यापार में सम्मिलित नहीं हो सकता।

जरूर पढिए – How to become successful entrepreneur in Hindi

विधायक बनने के लिए योग्यता – Vidhayak Eligibility

अगर आप यह जानना चाहते हैं कि कौन व्यक्ति विधायक का चुनाव है और विधायक के पद पर विराजमान होकर अपने निर्वाचन क्षेत्र में कार्य करवा सकता है तो इसके लिए नीचे बताई गई योग्यता आवश्यक है – 

  • आपको बता दें कि विधायक बनने के लिए किसी भी प्रकार की शिक्षण योग्यता नहीं रखी गई है।
  • इसके अलावा एक विधायक बनने के लिए किसी भी प्रकार की शारीरिक दक्षता भी नहीं रखी गई है, अर्थात आप की लंबाई चौड़ाई और किसी भी शारीरिक परिस्थिति से विधायक के पद का कोई लेना देना नहीं है।
  • एमएलए या विधायक बनने के लिए सबसे पहले आपको भारत का नागरिक होना आवश्यक है।
  • विधायक बनने के लिए भारत के किसी भी नागरिक की आयु कम से कम 25 वर्ष या उससे अधिक होनी चाहिए।
  • विधायक बनने के लिए एक व्यक्ति का मानसिक रूप से स्वस्थ होना आवश्यक है।
  • 1951 के अधिनियम के बाद एक विधायक बनने के लिए उस व्यक्ति का नाम अपने निर्वाचन क्षेत्र के मतदान की सूची में होना चाहिए। सरल शब्दों में आप जिस जगह से विधायक का इलेक्शन लड़ना चाहते है, वहां के address पर आपका Voter ID होना चाहिए। 
  • विधायक बनने के लिए किसी भी व्यक्ति के पास सरकारी नौकरी नहीं होना चाहिए अर्थात एक सरकारी नौकरी करने वाला व्यक्ति विधायक के पद के लिए खड़ा नही हो सकता।
  • विधायक बनने से पहले किसी भी कोर्ट के तरफ से विधायक के पद के लिए खड़ा होने वाले व्यक्ति को किसी भी तरह के आरोप में दोशी नहीं होना चाहिए। विधायक बनने के बाद भी अगर किसी अपराध में दोषी पाया जाता है तो उसे तुरंत उस पद से हटा दिया जाता है।

Vidhayak kaise bane (Step-By-Step Process)

अगर आप विधायक बनना चाहते हैं तो सबसे पहले ऊपर बताई गई योग्यता को अपने अंदर विकसित करें अगर विधायक बनने की सभी योग्यता आपके अंदर है तो नीचे बताए गए निर्देशों का आदेश अनुसार पालन करें।

Step 1 – सबसे पहले अपनी प्रारंभिक शिक्षा संपन्न करें।

वैसे तो विधायक बनने के लिए किसी भी प्रकार के शिक्षण योग्यता नहीं रखी गई है। इस वजह से कोई अनपढ़ व्यक्ति भी विधायक बन सकता है मगर वह जिम्मेदारी और कार्यभार को अच्छे तरीके से नहीं समझ पाएगा जिस वजह से हम आपसे अनुरोध करेंगे कि विधायक बनने से पहले कुछ प्रारंभिक शिक्षा अवश्य हासिल करें ताकि सरकार कैसे काम करता है इस प्रक्रिया को आप समझ सके।

Step 2 – अगर आपकी उम्र 25 साल हो गई है तो एक पार्टी ज्वाइन करें।

किसी राजनीतिक दल को ज्वाइन करने से आपकी प्रचलिता आपके इलाके में बड़ी तेजी से बढ़ेगी। वैसे तो यह आवश्यक नहीं है कि आप किसी राजनीतिक दल को ज्वाइन करें क्योंकि निर्दलीय लोग भी इलेक्शन में खड़े होते है हालांकि अधिकांश स्थिति में किसी निर्दलीय व्यक्ति को सफल रूप से इलेक्शन जीतते नहीं देखा गया है।

25 साल की उम्र में आप विधायक का इलेक्शन लड़ सकते हैं अगर अपने इलाके में आप प्रचलित हैं तो सबसे पहले वहां के किसी प्रचलित राजनीतिक दल के साथ जुड़ जाएं।

Step 3 – जोर शोर से अपना प्रचार प्रसार करें।

विधायक एक जनप्रतिनिधि होता है अर्थात एक निर्वाचन क्षेत्र में रहने वाले लोग जिस व्यक्ति को मतदान देकर चुनते हैं वह विधायक बनता है इसके लिए आवश्यक है कि प्रत्येक व्यक्ति के नजर में आप आए इसके लिए आप तो बड़े जोर शोर से अपना प्रचार प्रसार अपने निर्वाचन क्षेत्र में करें ताकि लोगों को आपका नाम याद रहे और जैसे ही वह मतदान देने जाएं सबसे पहले आप का नाम देखें और उन्हें याद आ जाए।

विधायक बनना इसीलिए एक खर्चीला कार्य होता है क्योंकि आपको को अपना प्रचार प्रसार करने में बहुत पैसा खर्चा करना पड़ता है ताकि आपके इलाके के लोग आपको पहचान सके और आप को जान सके।

Step 4 – प्रत्येक 5 साल में इलेक्शन होता है उसमें किसी पार्टी के तरफ election ticket ले कर इलेक्शन मे हिस्सा लें।

जब आप किसी लोकप्रिय पार्टी का हिस्सा बनते हैं और वहां से अपने निर्वाचन क्षेत्र में विधायक के तौर पर खड़े होते हैं उस इलाके में आप अपनी प्रचलिता बड़े स्तर पर कायम कर पाते हैं और लोगों का ध्यान और मतदान आकर्षित कर पाते हैं तो आप 5 साल बाद होने वाले विधानसभा इलेक्शन में एक विधायक के तौर पर नियुक्त हो सकते हैं।

विधायक की चुनाव प्रक्रिया

हर राज्य में प्रत्येक 5 साल पर एक विधानसभा चुनाव होता है जिस चुनाव में राज्य को अलग-अलग निर्वाचन क्षेत्र में विभाजित किया जाता है प्रतीक निर्वाचन क्षेत्र से एक व्यक्ति चुनाव के लिए खड़ा होता है जिसकी उम्र 25 साल से अधिक होती है।

एक राज्य में कितने निर्वाचन क्षेत्र है यह उस राज्य की जनसंख्या और क्षेत्रफल पर निर्भर करता है प्रत्येक निर्वाचन क्षेत्र से बहुत सारे लोग विधायक के लिए खड़े होते है। उनमें से कोई एक उस निर्वाचन क्षेत्र पर जीतता है इस तरह हर राज्य में मौजूद सभी निर्वाचन क्षेत्र पर अलग-अलग विधायक बनते हैं जिस पार्टी के सबसे ज्यादा विधायक चुनाते है, वह पार्टी जिसका सबसे ज्यादा विधायक बनता है, वह अपना मुख्यमंत्री राज्य के विधानसभा में बैठ आती है।

इस तरह प्रत्येक 5 साल में राज्य के अलग-अलग निर्वाचन क्षेत्र पर विधानसभा का चुनाव होता है और आम जनता अपने मतदान से उस इलाके का विधायक चुनती है जिस पार्टी के सबसे ज्यादा विधायक एक राज्य में चुने जाते हैं उस पार्टी के मुख्य नेता को राज्य का मुख्यमंत्री घोषित किया जाता है। 

विधायक का चुनाव कैसे जीते

अगर आप विधायक के चुनाव में खड़ा होने के बारे में सोच रहे है, तो आप किस तरह विधायक बन सकते हैं और विधायक के चुनाव को जीत सकते हैं इसके बारे में कुछ जानकारी सरल शब्दों में नीचे दी गई है।

विधायक बनने के लिए अपने निर्वाचन क्षेत्र में प्रचलिता हासिल करें

विधायक के इलेक्शन वही व्यक्ति जीत पाएगा जिसे जनता का सबसे ज्यादा समर्थन हासिल होगा जनता का समर्थन हासिल करने के लिए आपको जनता के बीच जाकर स्वयं को प्रचलित करना होगा। इसके लिए कुछ लोग अपने निर्वाचन क्षेत्र के लोगों को डराने का प्रयास करते हैं तो कुछ लोग अपने निर्वाचन क्षेत्र में मौजूद सभी लोगों की भलाई करते हैं ताकि वहां मौजूद सब लोग इन्हें बहुत बड़ा नेता माने और आने वाले इलेक्शन में इन्हें बहुत ज्यादा वोट दें।

समाज सेवक बनकर लोगों की सेवा करें

विधायक का चुनाव वही व्यक्ति जीत सकता है जिसे निर्वाचन क्षेत्र में रहने वाले लोग पसंद करते हो उसी को पसंद करेंगे जो लोगों की सेवा करेगा उनके समस्या का निराकरण करेगा अगर आप के निर्वाचन क्षेत्र में रहने वाले लोगों को अगर यह लगेगा कि आप विधायक बनने से पहले जब वहां के लोगों की इतनी सेवा कर रहे हैं तो विधायक बनने के बाद उनकी कितनी सेवा करेंगे इस वजह से एक समाज सेवक का विधायक के रूप में चुनाना आसान हो जाता है। 

प्रचलित पार्टी से चुनाव टिकट मांगे

भारत में कुछ मुख्य प्रचलित पार्टी है जिसके नेता को बहुत ज्यादा इज्जत दिया जाता है या उस पार्टी को भारत के सबसे प्रभावशाली पार्टी में से एक माना जाता है। अगर आप विधायक का चुनाव जीतना चाहते हैं तो आवश्यक है कि आप किसी प्रभावशाली पार्टी का टिकट ले।

एक चुनाव पार्टी बहुत सारे लोगों का संगठन होता है जो प्रचलित लोगों को इलेक्शन लड़ने का टिकट देता है और उस टिकट को दिखाकर आप इलेक्शन में खड़ा हो सकता है। इसलिए यह जरूरी है कि आप अच्छी खासी प्रचलिता हासिल करें जिसे देखकर किसी भी बड़े पार्टी को ऐसा लगे कि आप को टिकट देने पर आप उस निर्वाचन क्षेत्र से जीतने की उम्मीद रखते है तो आप एक प्रचलित पार्टी के तरफ से विधायक के इलेक्शन का टिकट ले पाएंगे।

स्ट्रेटजी बनाकर लड़े

विधायक बनने के लिए एक निर्वाचन क्षेत्र से बहुत सारे लोग इलेक्शन में खड़ा होते हैं कुछ लोग किसी पार्टी का सहारा नहीं लेते और एक निर्दलीय नेता के रूप में सामने आते हैं बहुत सारे लोग लोगों को अलग-अलग तरह के वादा करते हैं और उनकी समस्या का निराकरण करने का प्रयास करते हैं ताकि अधिक से अधिक मतदान को अपनी तरफ आकर्षित किया जा सके।

ज्यादा से ज्यादा लोगों के नजर में आने और उनको अपनी तरफ आकर्षित करने के लिए लोग अलग-अलग तरह के तरीके अपनाते हैं आपको भी ऐसा कोई तरीका चुनना होगा इसके लिए आपको खुद कुछ अच्छा दिमाग लगाना होगा ताकि आप जिस निर्वाचन क्षेत्र से खड़े हो रहे हैं वहां के लोग आपको सबसे ज्यादा पसंद करें और आपकी तरफ आकर्षित हो।

वोटर से संपर्क करे

जो विधायक इलेक्शन जीता है वह केवल वोटर के वोट देने की वजह से जीता है अगर आने वाले समय में आपको एक विधायक के रूप में कार्य करना है तो वोटर से संपर्क करना आवश्यक होता है। सबसे पहले आपको अपने इलाके के सभी वोटर से संपर्क करना होगा और उन लोगों से बातचीत करनी होगी छोटे से छोटे व्यक्ति और बड़े से बड़े व्यक्ति के समस्या को चुनना होगा ताकि लोगों का नजर आप पर जाए।

एक निर्वाचन क्षेत्र में जितने भी वोटर होते हैं सब से बातचीत करके सब को दिखा कर के आप उनके लिए एक अच्छे नेता के रूप में सामने आएंगे आप उनका वोट जीत सकते हैं।

जरूर पढे – जानिए 30+ Tips से 30 दिन मे इंग्लिश बोलना कैसे सीखे

विधायक की तनख्वाह (Vidhayak Salary)

अगर आप विधायक कितना कमाता है जानना चाहते हैं तो हम ने विधायक को मिलने वाली सभी सुविधा और तनख्वाह को सूचीबद्ध तरीके से नीचे प्रस्तुत किया है – 

  • एक विधायक को ₹30000 प्रतिमाह मिलता है मगर यह तनख्वाह अलग-अलग राज्यों में अलग-अलग होती है जो राज्य सरकार के द्वारा निर्धारित किया जाता है।
  • भारत में तेलंगाना राज्य के MLA को सबसे ज्यादा ढाई लाख रुपए प्रतिमाह तनख्वाह के रूप में दिया जाता है।
  • जब एक विधायक 5 साल का कार्यकाल समाप्त करता है तो केंद्र सरकार के तरफ से ₹30000 प्रतिमाह पेंशन के रूप में दिए जाते हैं।
  • विधायक अपने निर्वाचन क्षेत्र का दौरा कर सके इसलिए केंद्र सरकार के तरफ से पेट्रोल का खर्चा ₹24000 प्रतिमाह दिया जाता है।
  • इसके अलावा विधायक को सफर में छुट दि जाता है जिसमें वह साल में एक बार एरोप्लेन से मुफ्त में घूम सकता है, और वह रेलगाड़ी से अपने किसी एक परिवार के सदस्य के साथ मुफ्त में कहीं भी भारत में घूम सकता है।

इसके अलावा विधायक को कार्य करने अपने निर्वाचन क्षेत्र में रोड, पानी और बिजली जैसी की समस्या को हल करने के लिए सरकार के तरफ से 1 साल में 7 करोड रुपए दिए जाते है। जिसका मोटा–मोटा हिसाब उसे सरकार को देना होता है।

जानिए विधायक की ताकत और बनने की प्रक्रिया को करीब से विडिओ मे –

Frequently Asked Questions (FAQ)

Q. विधायक बनने की कम से कम उम्र कितनी है?

विधायक बनने के लिए आपकी कम से कम उम्र 25 वर्ष होनी चाहिए।

Q. विधायक कैसे बन सकते है?

विधायक बनने के लिए आपको अपने राज्य के निर्वाचन क्षेत्र इससे चुनाव लड़ना होगा वहां की जनता अगर आप को मतदान देगी तो आप उस क्षेत्र के विधायक के रुप में कार्यरत हो पाएंगे।

Q. विधायक का काम क्या होता है?

केंद्र और राज्य सरकार के तरफ से शुरू की जाने वाली योजना और किसी भी नियम और कानून को राज्य के निर्धारित निर्वाचन क्षेत्र में सफलता से लागू करना और केंद्र सरकार के तरफ से मिलने वाले पैसे का सटीक इस्तेमाल करके आपने निर्वाचन क्षेत्र की प्रगति करना एक विधायक का कार्य होता है।

निष्कर्ष

आज के लेख में हमने आपको सरल शब्दों में यह बताने का प्रयास किया कि Vidhayak kaise bane और विधायक बनने की प्रक्रिया क्या है कौन विधायक बन सकता है और विधायक कितना कमाता है साथ ही विधायक के अधिकार और ताकत के बारे में भी हमने आपको जानकारी दी जिसे पढ़ने के बाद विधायक के बारे में अगर संपूर्ण जानकारी आपको मिल गई है तो इसे अपने मित्रों के साथ भी साझा करें। 

विधायक बनने के लिए अगर आप ऊपर बताई गई सभी जानकारी को समझ पाए हैं तो बताए गए निर्देशों का आदेश अनुसार पालन करके अपने निर्वाचन क्षेत्र में प्रचलिता हासिल करें और विधायक बने ताकि आप देश को प्रगति की राह पर ले जा सके।

Leave a Comment