MFG Date kya hai – MFG Date का मतलब क्या होता है

MFG Date Kya Hai – लोग अक्सर कोई सामान खरीदते है लापरवाही कहिए या जानकारी का अभाव मगर वह एमएफजी डेट देखना भूल जाते है, परिणाम स्वरूप वह प्रोडक्ट एक्सपेरी हो चुका होता है और उन्हें विभिन्न प्रकार की बीमारियों से ग्रसित होना पड़ता है इस तरह की परेशानी आपके साथ भी हो सकती है इस वजह से आपको MFG Date kya hai के बारे में जानकारी होनी चाहिए। सरल शब्दों में यह एक तारीख होती है जो हर तरह के प्रोडक्ट पर लिखी जाती है जिससे पता चलता है कि यह प्रोडक्ट कब बनाया गया है मदर केवल इतना पता चलने से आप इससे जुड़े अन्य सवालों के जवाब नहीं पा सकते।

हम यह कह सकते है, कि MFG Date का मतलब प्रोडक्ट का मैन्युफैक्चरिंग होता है। किसी भी सामान को खरीदने से पहले आपको एमएफजी डेट जरूर देखना चाहिए, एमएफजी डेट क्या होता है या एमएफजी डेट कहां लिखा रहता है इसे कैसे ढूंढे जैसे आवश्यक सवाल का जवाब पाने के लिए हमारे लेख के साथ अंत तक बने रहे।

MFG Date Kya Hai
MFG Date Kya Hai

MFG Date kya hai – MFG Date क मतलब क्या होता है

MFG Date kya hai

MFG Date का मतलब मैन्युफैक्चरिंग डेट होता है जिससे यह मालूम चलता है कि समान को कब बनाया गया या जिस दिन प्रोडक्ट को बनाया गया था उस दिन की तारीख क्या थी, ताकि उस प्रोडक्ट के एक्स्पाइरी डेट के बारे मे पता चल सके।

जैसा कि हमने आपको बताया जब भी कोई कंपनी किसी सामान को बनाती है तो सरकार के नियम के अनुसार उसे अपने सामान के ऊपर यह लिखना पड़ता है कि उसे उसने कब बनाया। इसके साथ ही सामान पर यह भी लिखना पड़ता है कि कितने दिन तक यह सामान वध्य है और इसका इस्तेमाल कौन कर सकता है इस तरह की जानकारी आपको किसी भी सामान पर लगे हुए लेवल पर देखने को मिल जाएगी।

वैसे तो हम रोजाना अलग-अलग तरह के सामान का इस्तेमाल करते हैं उनमें से कुछ ऐसे समान होते हैं जो चाहे कितने भी पुराने हो जाए उनके कार्य क्षमता में कोई बदलाव नहीं आता। मगर बात जब हम किसी दवाई है कुछ खाने पीने की चीज की करते हैं तो इसकी एक समय सीमा होती है जिसके बाद आप इसका इस्तेमाल नहीं कर सकते इस वजह से आपको यह मालूम करना चाहिए कि इस सामान को कब बनाया गया था और यह कितने दिन के लिए वेध्य हैं।

MFG Date का मतलब

MFG का फुल फॉर्म Manufacturing होता है। 

एमएसजी शब्द एक तरह से मैन्युफैक्चरिंग शब्द का छोटा रूप है। इसके बाद डेट शब्द का इस्तेमाल किया जाता है जिससे यह पता चलता है कि यह शब्द आपको उस तारीख के बारे में बताता है जिस दिन कंपनी ने प्रोडक्ट को बनाया था।

भारत के नियम के अनुसार कंपनी किसी भी प्रोडक्ट को बनाती है तो उसके लेवल पर यह मेंशन करना आवश्यक होता है कि उसने इस प्रोडक्ट को कब बनाया और कितने दिन तक इस प्रोडक्ट का इस्तेमाल किया जा सकता है एक ग्राहक की यह जिम्मेदारी होती है कि वह पता करें कि जिस प्रोडक्ट को वह खरीद रहा है उसे कितने दिन तक इस्तेमाल किया जा सकता है।

उदाहरण के तौर अगर आप किसी फेस क्रीम को खरीद रहे हैं जिससे 3 साल पहले बनाया गया था तो तुरंत आपको उसे दुकानदार को वापस कर देना है क्योंकि आमतौर पर एक फेस क्रीम 3 साल में एक्सपायरी कर जाती है, अगर आप इस तरह के किसी सामान को खरीदते है तो आपको काफी नुकसान हो सकता है।

आपको उसका एक्सपायरी डेट देखना चाहिए और मैन्युफैक्चरिंग डेट देखना चाहिए उसके बाद ही सामान खरीदना चाहिए।

आपको एक जागरूक ग्राहक की तरह दुकान से किसी भी सामान को खरीदने से पहले उसका मैन्युफैक्चरिंग डेट देखना चाहिए अगर दुकानदार आपको जबरदस्ती इस तरह का सामान बेचता है तो आप कंजूमर कोर्ट में उसके खिलाफ केस कर सकते है।

Also Read – Sava Mahina me Kitna Din Hota Hai | सवा महीने में कितना दिन होता है

किसका MFG Date क्या है

हर सामान का अलग-अलग मैन्युफैक्चरिंग डेट और एक्सपायरी डेट होता है जिसके बारे में आपको पता होना चाहिए वह सामान कब बना था इससे पता चलता है कि बिना उस प्रोडक्ट को ओपन किए आप कितने दिन तक उसका इस्तेमाल कर सकते हैं और ओपन करने के बाद उस प्रोडक्ट का कितने दिन तक इस्तेमाल कर सकते हैं जिसे समझाने के लिए अलग-अलग प्रोडक्ट के मैन्युफैक्चरिंग डेट की जानकारी सरल शब्दों में नीचे दी गई है। 

Products MFG Date और प्रोडक्ट खराब होने का समय
Cement3 Months
Fire ExtinguisherBetween 10 to 12 years
Egg3 to 5 Week
Bread2 to 4 days
Butter3 months (In Freez)
Vegetable Oil1 year
Beer6 to 8 months
Pasta2 years
Lipstick2 years
Medicine1 month
Face Wash6 months
Lotion3 years
Powder3 years
Eyeshadow3 years
Lip Gloss3 years
Food Essence8 months
Cream1 year
Foundation1 year
Cleanser4 to 12 month
Sunscreen4 to 12 month
Nail Polish1 year
Aadhar CardLifetime
Driving LicenseLifetime

MFG Date कैसे ढूंढे

जैसा कि आप समझ गए होंगे कि अलग-अलग प्रोडक्ट की एमएफजी डेट क्या होती है सबसे बड़ी समस्या यह आती है कि आप किसी भी डेट को कैसे ढूंढ लेंगे जैसा कि हमने बताया सरकार के आदेश के अनुसार जब भी कंपनी किसी प्रोडक्ट को बनाती है तो उसके लेवल पर एमएफजी डेट लिख देती है मगर आप किसी प्रोडक्ट की डेट को तुरंत कैसे ढूंढ सकते हैं इसके लिए मुख्य तरीके नीचे स्पष्ट रूप से बताए गए हैं – 

प्रोडक्ट का लेवल देखिए

Product ke level par MFG Date

प्रोडक्ट पर लगे लेवल से हमारा मतलब है कि किसी भी प्रोडक्ट के ऊपर एक प्लास्टिक की परत लगी हुई होती है जिस पर कंपनी का नाम प्रोडक्ट का नाम अलग-अलग तरह की चीजें लिखी हुई होती है जब उस लेवल को घुमाईएगा तो आपको वहां एक टेबल दिखेगा जिसमें आपके प्रोडक्ट में क्या क्या मिलाया गया है इसके बारे में जानकारी होगी उसी के आसपास आपको एक बार कोड भी दिखाई देगा।

इसी तरह की जानकारी को देखते हुए आपको वहां अलग अलग तरह का तारीख देखने को मिलेगा जैसा आपको फोटो में दिखाया गया है।

ढक्कन के पास या प्रोडक्ट के सबसे नीचे देखिए

कुछ खाने पीने की चीजें ऐसी होती हैं जिनके मैन्युफैक्चरिंग डेट और एक्सपायरी डेट ढक्कन के पास लिखा हुआ होता है प्रोडक्ट को जहां से ओपन करते हैं वहां पर अपनी नजर दौड़ाई है छोटे छोटे काले अक्षरों में वहां पर मैन्युफैक्चरिंग डेट और एक्सपायरी डेट लिखा हुआ होता है। ढक्कन के पास expiry or manufacturing date मुख्य रूप से कोल्ड ड्रिंक पानी और इस तरह की अलग-अलग खाने-पीने की चीजों पर लिखा रहता है।

कभी-कभी आपको मैंने फैक्चरिंग डेट ढूंढने में तकलीफ होगी तो अपने प्रोडक्ट के सबसे नीचे जाइए जहां नीचे से आपके प्रोडक्ट को सील किया जाता है वहा भी manufacturing date या MSG date लिखी हुई होती है, इसे भी फोटो में दिखाया गया हैं।

बार कोड को स्कैन करिए

जब आप किसी प्रचलित मॉल में अपना सामान खरीदने जाएंगे तो वहां आप पाएंगे कि प्रोडक्ट के बार कोड को स्कैन करने के लिए कंप्यूटर का इस्तेमाल किया जा रहा है या फिर बारकोड स्केनर का इस्तेमाल किया जा रहा है इस तरह के डिवाइस से जो प्रोडक्ट को स्कैन किया जाता है तो उसकी मैन्युफैक्चरिंग डेट उसकी एक्सपायरी डेट और इस तरह की अन्य जानकारी कंप्यूटर पर आ जाती है जिससे दुकानदार गया देख पाता है कि आपको वह प्रोडक्ट देने लायक है या नहीं, हालांकि ज्यादातर जगहों पर दुकानदार प्रोडक्ट को देखकर ही आपको देता है इस तरह की गलती नहीं करता मगर कभी अगर उसके ध्यान से छूट जाए तो आपको बारकोड स्कैन के जरिए मैंनेफैक्चरिंग डेट क्या पता चला यह उससे पूछना है। 

मैन्युफैक्चरिंग डेट क्यो लिखा होता है

बहुत सारे लोगों का यह सवाल है होगा कि एमएफजी डेट किसी प्रोडक्ट पर क्यों लिखा रहता है आखिर इस तरह की जानकारी लिखने से क्या फायदा होता है आप भी अगर इस तरह की जानकारी ढूंढ रहे हैं तो आपको बता दें कि यह भारतीय सरकार का नियम है। मगर फिर भी मैन्युफैक्चरिंग डेट क्यों लिखा जाता है इसे सूचीबद्ध तरीके से आपके समक्ष प्रस्तुत किया गया है –

  • अलग-अलग प्रोडक्ट के इस्तेमाल करने की अलग-अलग अवधि होती है अगर आप किसी प्रोडक्ट का उसके अवधि के बाहर जाकर इस्तेमाल करते हैं तो उसका आपके शरीर पर किसी गलत तरह का रिएक्शन हो सकता है जिसमें आपको अलग तरह की बीमारी या विभिन्न तरह के इंफेक्शन से ग्रसित होना पड़ सकता है जिससे आपको शारीरिक और मानसिक रूप से काफी परेशानी महसूस होगी सरकार इस बात को समझती है इस वजह से कंस्यूमर कोर्ट के तरफ से यह नियम दिया गया है कि कोई भी दुकानदार बिना मैन्युफैक्चरिंग और एक्सपायरी डेट देखे किसी को नहीं बेचेगा और प्रोडक्ट मैन्युफैक्चरिंग कंपनी के द्वारा लिखना आवश्यक कर दिया गया है। 
  • एमएफजी डेट से आप यह पता कर सकते हैं कि प्रोडक्ट को कब बनाया गया है इसके जरिए आप अंदाजा लगा सकते है कि इस प्रोडक्ट इस्तेमाल अब करना चाहिए या नहीं करना चाहिए।
  • एमएफजी डेट को देखकर आपको expiry date का पता चलता है और आप पता लगा सकते है की इस प्रोडक्ट का इस्तेमाल कब करना है और कब नहीं करना है।

MFG Date की जरूरत

एमएफजी डेट की जरूरत हमें इसलिए पड़ती है ताकि दुकानदार हमें कोई पुरानी चीज ना बेच सके हम एमएफजी डेट की मदद से यह पता लगा सकते है, कि कोई भी चीज कितनी पुरानी है और अगर वह ज्यादा पुरानी होगी तो हमे उसे नहीं खरीदना चाहिए। 

हमें अपनी जिंदगी में अलग अलग तरह की चीजों की आवश्यकता पड़ती है उन्हें खरीदने के लिए हम दुकान में जाते है, दुकानदार हमारी मजबूरी का फायदा उठाकर हमें कोई पुरानी चीज भेज कर समस्या में डाल सकता था मगर जीत की वजह से हम प्रोडक्ट कब बना है यह पता करके अपनी परेशानी कम कर सकते हैं।

  • एमएफजी डेट की वजह से आप यह पता कर सकते है की किसी प्रोडक्ट को कब बनाया गया था और उसका इस्तेमाल कितने दिन तक करना चाहिए।
  • एमएफजी डेट धोखाधड़ी से बचाता है अगर यह तारीख किसी सामान पर नहीं लिखी होगी तो दुकानदार गलत फायदा उठा सकता है और आपको खराब सामान बेच सकता है।
  • मिर्ची डेट बाजार में संतुलन बनाकर रखने का काम करता है अगर कोई सामान एमएफजी डेट के अनुसार खराब हो जा रहा है तो उसके जगह पर नया सामान आ रहा है इस वजह से बिकने और बनने की प्रक्रिया बरकरार रहती है।
  • एमएफजी डेट की वजह से हमें ताजा और अच्छा सामान खरीदने का मौका मिलता है।

Also Read – भारत का मतलब – Meaning of Bharat | Bharat Ka Matlab

गलत MFG Date वाले सामान मिलने पर क्या करें

जैसा कि हमने आपको बताया भारतीय सरकार ने इस नियम को बड़ी सख्ती से लिया है जिसमें दुकानदार को केवल वही सामान भेजना है जिस पर सही तरीके से एमएफजी डेट लिखा हुआ हो और वह एक्सपायरी ना हो अगर आपके साथ दुकानदार किसी तरह की जबरदस्ती करता है या आपकी बात को नहीं सुनता तो नीचे बताए गए निर्देशों का आदेश अनुसार पालन करें –

  • अगर दुकानदार आपको कोई प्रोडक्ट देता है और आपने उसमें एमएफजी डेट को चेक किया तो पाया कि यह प्रोडक्ट एक्सपेरी हो चुका है तो तुरंत दुकानदार को यह प्रोडक्ट बदलने या वापस लेने के लिए कहे।
  • अगर दुकानदार आपके एक्सपायरी या एमएफजी डेट नहीं लिखा हुआ सामान लेने से इनकार करता है या किसी तरह का बहाना बनाता है तो आप सबसे पहले उसे इस नियम के बारे में बताएं और तुरंत इस सामान को बदलने या रिफंड के लिए कहें।
  • अगर दुकानदार आपकी बातों को अनसुना करता है और बिना MFG Date वाले प्रोडक्ट को लेने से मना करता है अप कंज्यूमर कोर्ट में इस बात की शिकायत कर सकते है, और इसके लिए अपने इलाके के कंज्यूमर कोर्ट में उस दुकानदार के खिलाफ केस कर सकते हैं।

MFG और Expiry Date में फर्क

जब आप किसी सामान को खरीदने जाते है तो उसमे MFG Date के साथ Expiry Date भी लिखी होती है। इन दोनों तरह की तारीख का अपना अलग-अलग महत्व होता है जिसे नीचे सरल शब्दों में समझाने का प्रयास किया गया है।

  • Expiry Date से हमें यह पता चलता है कि सामान कब खराब होने वाला है अर्थात कितने समय के बाद हमें इस सामान का इस्तेमाल नहीं करना है।
  • MSG date से हमें यह पता चलता है इस सामान कब बना है और कितने दिन पुराना हुआ है।
  • कुछ सामान को आप कुछ महीनों के बाद इस्तेमाल नहीं कर सकते अब वह प्रोडक्ट कितने महीने का हुआ है यह पता करने के लिए एमएफजी डेट का होना आवश्यक है।
  • कुछ सामान पर MFG Date के अनुसार कंपनी के द्वारा सटीक तारीख चुनकर एक्सपायरी डेट के रूप में लिख दी जाती है जिसे पढ़ने के बाद आप समझ सकते हैं कि एग्जैक्ट इस तारीख के दिन से आपको इस प्रोडक्ट का इस्तेमाल नहीं करना है।

MFG Date Kya Hai YouTube Video

Frequently Asked Questions (FAQ)

Q. MFG Date का फुल फॉर्म क्या होता है?

MFG Date का फुल फॉर्म Manufacturing Date होता है। 

Q. एमएफजी डेट से क्या पता चलता है?

एमएफजी डेट से पता चलता है कि किसी प्रोडक्ट को कब बनाया गया है।

Q. एमएफजी डेट कहां लिखा होता है?

प्रोडक्ट के सबसे ऊपर ढक्कन के पास, या सबसे नीचे वाले सिल पर इसके, या इसके अलावा प्रोडक्ट के लेवल पर भी एमएफजी डेट लिखा हुआ होता है।

Q. MFG Date के अनुसार समान न मिलने पर क्या करे?

अगर आप किसी सामान को खरीदने जाते है और दुकानदार आपको एमएफजी डेट के अनुसार सामान नहीं देता है तो आप कंस्यूमर कोर्ट में इस बात की शिकायत करते हुए उस दुकानदार पर केस कर सकते हैं। 

निष्कर्ष

आज के लेख में हमने आपको यह बताने का प्रयास किया कि MFG Date kya hai, mfg date का मतलब क्या होता है, इसे कैसे ढूंढते है और इसकी आवश्यकता क्या है, साथ ही कुछ अलग अलग तरह के प्रोडक्ट के बारे में बताने का प्रयास भी किया गया। याद रखिए यह एक आवश्यक जानकारी है जिसके बारे में हर व्यक्ति को पता होना चाहिए।

अगर इस लेख को पढ़ने के बाद आप MFG Date जैसी आवश्यक जानकारी को ढूंढ पाए है और इसके महत्व और आवश्यकता को सही तरीके से देख पाए है साथ ही इससे आपको जानकारी मिली है तो इसे अपने मित्रों के साथ भी साझा करें साथी या किसी अन्य प्रकार के सवाल आपके मन में आ रहे है उसे कमेंट करके अवश्य बताएं।

Must Read

Leave a Comment