प्रिज्म क्या है – परिभाषा, सूत्र | prism ki kya jarurat hai

prism ki kya jarurat hai – विज्ञान की पढ़ाई करते वक्त एक साधारण यंत्र जो लैब में दिखाया जाता है उसे Prism कहते हैं इसकी परिभाषा समझने से पहले आपको इसकी विशेषता और इस्तेमाल के बारे में जानना चाहिए ताकि आपको विज्ञान में इस यंत्र की खासियत, prism kya hai, और प्रिज्म की क्या जरूरत है और रोजमर्रा के जीवन में किस प्रकार यह हमारे कार्य आता है इन सभी चीजों को विस्तार पूर्वक समझ सकें। 

हमारे आंखों में भी जब किसी प्रकार की परेशानी होती है तो विभिन्न प्रकार के कांच या लेंस लगवाए जाते है, उसमे भी prism का इस्तेमाल किया जाता है। मगर जब आमतौर पर एक बच्चा कक्षा में विज्ञान की पढ़ाई पड़ता है तो उस वक्त एक विचार उसके मन में आ सकता है की prism ki kya jarurat hai अगर इस तरह के प्रश्न आपके मस्तिष्क में आ रहे हैं और एक खास तरीके से कटे हुए कांच के आकार के संदर्भ में अधिक जानकारी जानना चाहते हैं तो लेख के साथ अंत तक बनी रहे। 

prism ki kya jarurat hai
Image Source: Prism Kya Hai

प्रिज्म क्या है। (prism kya hai) 

प्रिज्म एक तिकोना आकार का वास्तु होता है जिसकी तीनो सता है समतल होती है और पारदर्शी होती है। जब दो पारदर्शी समतल और सपाट वस्तुओं को इस प्रकार जोड़ा चाहता है कि दोनों के बीच एक कोण बने तो इस तरह के वस्तु को प्रिज़म कहते है या उसे प्रिज्म से संबोधित करते हैं। 

पुराने जमाने में इसे सर्वप्रथम जेमिति पढ़ने के लिए तैयार किया गया था मगर जेमिति और कोण के संबंध में विभिन्न प्रकार के सवालों का निराकरण करते हुए इसका इस्तेमाल प्रकाश की विशेषता को समझने के लिए भी किया जाने लगा।  जैसा कि हमने आपको बताया यह एक ऐसी धातु होती है जो पारदर्शी होती है जिसमें से किरण आर पार हो सकती है तो जब प्रकाश की किरण प्रिज्म से बाहर निकलती है तो उसमें विभिन्न प्रकार के फर्क देखने को मिलते हैं। 

हम प्रिज्म की वजह से रोशनी के अपवर्तन और परावर्तन को समझ पाए है। इसके बाद इस वस्तु को अलग अलग तरीके से इस्तेमाल किया जाने लगा आज इसका इस्तेमाल केवल रोशनी के संदर्भ में जानकारी एकत्रित करने के लिए नहीं बल्कि मेडिकल फील्ड में आंख के इलाज के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है। 

Read This – How to Become Successful Entrepreneur

prism ki kya jarurat hai

जैसा कि हमने आपको इस यंत्र के बारे में बताया यह बहुत ही पुराने वस्तु में से एक है यह बहुत ही साधारण यंत्र है जिसका इस्तेमाल जयमिति के कुछ सवालों को हल करने के लिए किया गया था। जब इस वस्तु या यंत्र समतल सपाट पारदर्शी रोशनी को परावर्तन और अपवर्तन करने का मौका दिया तो हमें रोशनी टूटती हुई नजर आई जिससे इसकी जरूरत विभिन्न जगहों पर बढ़ गई है हमने प्रिज्म की आवश्यकता और इसकी जरूरत को समझने के लिए नीचे कुछ बिंदुओं का प्रयोग किया है उसे ध्यानपूर्वक पढ़ें – 

  • इस यंत्र की आवश्यकता जेमिति के सवालों को हल करने के लिए की जाती है। 
  • जब हमारे आंख में ऐसी समस्या होती है जिसमें हमारा आंख किसी वस्तु की एक तस्वीर नहीं बना पाता और हमें दोहरी दृष्टि की समस्या हो जाती है जिसे Prism Correction के जरिए ठीक किया जाता है। 
  • प्रिज्म के आकार की लेंस बनती है जो आंखों में होने वाली अभिसरण त्रुटि को ठीक करता है। 
  • प्रिज्म की मदद से हम रोशनी के बारे में अधिक जानकारी एकत्रित कर पाए हैं क्योंकि परावर्तन और अपवर्तन के दौरान सफेद रोशनी अगर इस धातु से पार होती है तो वह 7 रंगों में टूट जाती है। 

प्रिज्म के गुण

prism ki kya jarurat hai को समझने के बाद आपको प्रिज्म के कुछ खास गुणों को समझना चाहिए ताकि आप इस यंत्र के इस्तेमाल और प्रारूप को और अच्छी तरीके से समझ पाए। 

  • इस यंत्र का सबसे बड़ा गुण धर्म यह है कि इसमें आपको angle of deviation देखने को मिलता है। जैसा कि हमने आपको बताया प्रिज्म में दो समतल सपाट पारदर्शी वस्तु इस प्रकार जुड़ती है कि दोनों के बीच एक एंगल बनता है। जिसके पश्चात जब भी कोई रोशनी एक तरफ से प्रिज्म के अंदर जाती है वह परावर्तन और अपवर्तन दोनों करती है जिसके पश्चात रोशनी इस प्रकार मुड़ती है की अपवर्तन और परावर्तन करने वाली किरणों के बीच एक एंगल बनता है जिसे angle of deviation कहते है। 
  • इसके साथ ही प्रिज्मा की दोनों तरफ इतना पारदर्शी और समतल होता है कि रोशनी जब अपवर्तन और परावर्तन करके बाहर निकलती है तो वह 7 विभिन्न रंगों में टूट जाती है। 
  • जब प्रिज्म की एक तरफ टॉर्च जलाएंगे तो आपको दूसरी तरफ साथ विभिन्न रंग देखने को मिलेंगे। 
  • रोशनी इस वस्तु के अंदर परावर्तन और अपवर्तन दोनों करती है जिस वजह से एक तरफ से जिस जगह से रोशनी इस वस्तु के अंदर जाती है दूसरी तरफ से उसी जगह से वापस आती है जिस वजह से आंखों में होने वाले विभिन्न प्रकार की समस्याओं का समाधान इस यंत्र से होता है। 

Must Read This –

निष्कर्ष 

उम्मीद करते हैं इस लेख को पढ़ने के बाद आपको विभिन्न प्रकार की जानकारी मिली होगी भौतिक विज्ञान में इस्तेमाल की जाने वाली इस महत्वपूर्ण वस्तु के बारे में आपको सब कुछ बताने का प्रयास किया गया। इस लेख के जरिए आप प्रिज्म क्या है? और prism ki kya jarurat hai, इसका इस्तेमाल कहां और कैसे किया जाता है जैसे विभिन्न प्रकार के सवालों का सरल और संक्षिप्त रूप में जवाब पा सके हैं। 

इस लेख को अपने भौतिक विज्ञान के पढ़ाई के दौरान इस्तेमाल कर सकते हैं ताकि आप इस वस्तु या यंत्र के बारे में अच्छी तरीके से समझ पाए अगर फ्रीज में क्या विज्ञान से संबंधित किसी भी प्रकार की समस्या आपको आती है तो हमें कमेंट करके अवश्य बताएं। 

Leave a Comment